संवाद सहयोगी, जगराओं : गुरु गोबिंद सिंह सरकारी हाई स्कूल कमालपुरा में वर्ष 1962-63 में दसवीं कक्षा पास करने के बाद विभिन्न शहरों व क्षेत्रों में पहुंच चुके दोस्त जब एक वार फिर से गांव चीमा के सिद्धू पार्क में इक्कठे हुए तो सभी एक दूसरे के स्नेह में भीग गए और सभी की आंखे नम नजर आई। इनमें से कुछ दोस्त ऐसे भी हैं जो अपने परिवारों सहित विदेशों में जा बसे। कुछ ऐसे भी थे जो कुछ ही समय पहले भारत से विदेश वापिस लौटे थे। जब इन सभी को सिद्धू पार्क में इक्कठे होने का संदेश मिला तो वह बिना देर किए टिकट लेकर वापस पंजाब लौट आए।

अमरजीत सिंह चीमा के सिद्धू में आयोजित प्रभावशाली समारोह दौरान मंच संचालन करते हुए सुखदेव सिंह रुमी ने पुराने समय को याद करते हुए सभी को उनके निक नाम लेकर बुलाते हुए वह समय याद करवाया। समारोह में विशेष तौर पर पहुंचे परमजीत सिंह चीमा ने गीत गा कर सभ्याचारक माहौल तैयार किया। इस मौके सभी दोस्तों ने अपनी परिवारिक सांझ को मजबूत करने के साथ समाज सुधारक कार्यो में योगदान डाल कर नई पीढी का मार्ग दर्शन करने पर भी चर्चा हुई।

डॉ. मेजर सिंह ततला ने कमालपुरा स्कूल और क्षेत्र के इतिहास के संबध में जानकारी प्रदान करते हुए अपनी एतिहासिक पुस्तक सभी को भेंट की। सुरजीत सिंह बिजल, अमरजीत सिंह, सुखदेव सिंह रुमी और अजमेल सिह बिंजल की ओर से तैयार किया सोवीनार रिलीज किया। इस मौके 1963 के अपने अंग्रेजी के अध्यापक सुरिंदर पाल सिंह ग्रेवाल और हिदी के अध्यापक अमृत लाल को विशेष तौर पर सम्मानित किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!