जासं, लुधियाना : ग्यासपुरा के न्यू आंबेडकर नगर निवासी युवक को बंधक बना लोहे की रॉड से हमला कर तीसरी मंजिल से नीचे फेंक दिया गया। गंभीर हालत में उसे चंडीगढ़ के पीजीआइ अस्पताल में भर्ती कराया गया। थाना साहनेवाल की कंगनवाल चौकी मामले की जांच कर रही है। पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में भी लिया है। पुलिस को दी शिकायत में न्यू आंबेडकर नगर की गली नंबर चार निवासी राम प्रताप यादव ने बताया कि उसके छोटे भाई तेज प्रताप यादव (18) को 17 मई की दोपहर एक युवती ने फोन करके अपने वहां बुलाया। वह उसके पास चला गया। उसी रात युवती के दो भाइयों ने तेज प्रताप पर हमला कर उसे मकान की तीसरी मंजिल से नीचे फेंक दिया।

पता चलते ही वह अपने साथियों के साथ वहां पहुंचा और इलाज के लिए उसे निजी अस्पताल लेकर पहुंचा। मगर वहां से उसे सिविल अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। सिविल अस्पताल के डॉक्टरों ने भी उसकी गंभीर हालत देखते हुए पीजीआइ के लिए रेफर कर दिया, जहां उसकी हालत स्थिर बनी हुई है। उसके मुंह, रीढ़ की हड्डी, दोनों घुटने और सिर पर गंभीर घाव हैं। घटना के चार दिन बाद तेज प्रताप ने बताया कि कैसे उसे बंधक बनाकर पीटा और फिर छत से फेंक दिया गया। यहां थोक में आलू प्याज का काम करने वाला तेज प्रताप मूल रूप से प्रतापगढ़ (उत्तर प्रदेश) के थाना लाल गंज के गांव निधई के पुरवा का रहने वाला है। घर में उसके पिता जगन्नाथ यादव, माता राज कुमारी, तीन भाई तथा पांच बहनें हैं।

इस संबंध में बात करने पर कंगनवाल चौकी इंचार्ज बलवीर ने कहा कि पहले डॉक्टरों ने उसे अनफिट बताया था। मगर आज एएसआइ हरपाल को उसके बयान लेने के लिए चंडीगढ़ भेजा है। बयान के आधार पर केस दर्ज करके आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप