जेएनएन, लुधियाना। साहनेवाल की रहने वाली महिला ने आइआरबी में तैनात हवलदार पर दुष्कर्म करने के आरोप लगाए हैं। वह सात साल पहले हवलदार के संपर्क में आई थी, जब उसके पति ने उसे पीटा था। तभी से हवलदार शादी का झांसा देकर उसके साथ संबंध बनाता रहा। कुछ दिन पहले वह शादी करने से मुकर गया। महिला ने पुलिस कमिश्नर डॉ. सुखचैन सिंह गिल को शिकायत देकर इन्साफ दिलाने की गुहार लगाई है।

महिला ने बताया कि उसकी शादी 31 मार्च 2002 को टिब्बा के निवासी व्यक्ति से हुई थी। इस शादी से उसके चार बच्चे हैं। पति नशेड़ी था और उससे मारपीट करता था। साल 2011 में नशे में धुत उसके पति ने उसे बुरी तरह पीटा। वह बचकर साहनेवाल रोड पर आई तो वहां पीसीआर की गाड़ी में तैनात हवलदार गुरप्रीत सिंह को पूरी कहानी बताई। वह उसके साथ उसके घर गया और पति को धमका दिया। इससे उसका पति उससे डरने लगा था। हवलदार ने उसका मोबाइल नंबर ले लिया था। अगले ही दिन वह कार लेकर उसके घर आया और बहलाकर उसे गाड़ी में बिठा लिया।

कुछ ही दिनों में उनकी नजदीकियां हुई और वह एक-दूसरे के संपर्क में रहने लगे। वह उसे शादी का झांसा देकर संबंध बनाता रहा था, उसने 2018 में उसे साहनेवाल में किराए पर घर लेकर दिया था और उसके साथ ही रहता था। मगर करीब 15 दिन पहले वह उसे छोड़कर चला आया और अब उससे शादी करवाने से इन्कार किया है। हवलदार खुद शादीशुदा है और यह बात उसने उससे छिपाकर रखी थी। वहीं सीपी ने कहा कि महिला की ओर से शिकायत पर मिली है। इसकी जांच की जा रही है।

हवलदार ने कहा, महिला के साथ थे संबंध, पर दुष्कर्म नहीं किया

दूसरी तरफ हवलदार गुरप्रीत ने बताया कि उसके महिला के साथ संबंध थे मगर उसने उसके साथ दुष्कर्म नहीं किया है। वह उसके पास उसकी सहमति से जाता था। उसके परिवार की ओर से भी महिला के खिलाफ शिकायत दी हुई है। इसके बाद उसके ने यह शिकायत की है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें  

Posted By: Sat Paul