लुधियाना (वि) : केंद्र सरकार के द्वारा हज यात्रा के दौरान दी जाने वाली 700 करोड़ रुपये की सब्सिडी खत्म कर केवल मुस्लिम लड़कियों को शिक्षा प्रदान करने के फैसले के साथ हिन्दू सिख लड़कियों की अनदेखी कतई नहीं बर्दाश्त की जाएगी। उपरोक्त शब्द शिवसेना हिन्दुस्तान व्यापार सेना के प्रदेशाध्यक्ष चन्द्रकान्त चढ्डा ने केंद्र सरकार द्वारा मंगलवार को लिए निर्णय पर रोष जताते हुए कहा। चढ्डा ने कहा कि मोदी सरकार ने सिर्फ मुस्लिम लड़कियों को शिक्षा प्रदान करने का फैसला लेकर काग्रेस की भाति वोट बैंक की राजनीति को प्राथमिकता दी है। उन्होंने कहा कि देश की आर्थिक व्यवस्था में हिंदू व सिख धर्म के व्यापारी टैक्स प्रदान करके अहम रोल अदा कर रहे हैं लेकिन केंद्र सरकार द्वारा हिन्दू सिख धर्म की लड़कियों को पैकेज में शामिल न कर अन्याय किया गया है। चढ्डा ने बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय प्रमुख पवन कुमार गुप्ता व महासचिव एवं प्रदेशाध्यक्ष कृष्ण शर्मा के दिशा निर्देशों पर शिवसैनिकों द्वारा जिलाधीश लुधियाना के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम मांगपत्र भेज कर हिंदू व सिख धर्म की लड़कियों को भी इस पैकेज में सामान स्थान देने की माग की जाएगी। यदि हिन्दू-सिख धर्म की लड़कियों से भेदभाव का यह फैसला वापस न लिया गया तो शिवसैनिक पार्टी हाईकमान के निर्देशों पर रणनीति तय कर संघर्ष करने से गुरेज नहीं करेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!