लुधियाना, जेएनएन। संदिग्ध परिस्थितियों में 12वीं कक्षा की एक छात्रा ने घर में पंखे के हुक से फंदा लगा कर खुदकुशी कर ली। मृतका की पहचान रामगढ़ निवासी अनीता के रूप में हुई है।  घटना का पता उस समय चला जब छात्रा की मां कमरे में से उसे बुलाने गई। उसने तुरंत इसकी जानकारी अपने पति को दी। वह उसे उतार कर दोराहा मेन रोड पर स्थित एक निजी अस्पताल में ले गए। जहां देर शाम अनीता की मौत हो गई। मौके पर पहुंची थाना साहनेवाल पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

मृतका अनीता के पिता ने बताया कि वह साहनेवाल मंडी में मजदूरी करते हैं। उनकी बेटी साहनेवाल के एक प्राइवेट स्कूल में 12वीं कक्षा की छात्रा थी। शुक्रवार दोपहर अनीता अपनी मां के साथ घर पर ही थी। बातें करते करते अचानक कमरे में चली गई। काफी समय तक जब वह कमरे से बाहर नहीं आई तो उसकी मां उसे देखने कमरे में गई। वहां उसने देखा कि उसकी बेटी फंदे से लटक रही है।  उसे आनन-फानन में फंदे से उतार कर अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

अस्पताल प्रबंधन पर लगाया आरोप : अनीता के परिजनों ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी की मौत अस्पताल पहुंचते ही हो गई थी।  लेकिन, अस्पताल प्रशासन ने उनकी मृत बेटी को वेंटीलेटर पर लगा दिया। बाद में उनसे पांच हजार रुपये की दवाएं भी मंगवा ली। इसके कुछ देर बाद उन्हें बताया गया कि उनकी बेटी की मौत हो चुकी है। परिजनों ने आरोप लगाया कि डॉक्टरों ने इतने काम के उनसे 32 हजार रुपये ले लिए। इधर, पुलिस ने शनिवार को शव का पोस्टमार्टम करवाकर वारिसों के हवाले कर दिया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!