लुधियाना, जेएनएन। मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों के विरोध में 10 ट्रेड यूनियन के सदस्यों ने मिनी सचिवालय में रोष प्रदर्शन किया। इस दौरान यूनियन के सदस्यों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस मौके पर प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए डीपी मोड़ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरिंदर मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार हर फ्रंट पर फेल साबित हुई है। 

कारपोरेट घरानों से मिलीभगत करते हुए केंद्र सरकार ने हर क्षेत्र में निजीकरण को बढ़ावा दिया है. वहीं, लेबर कानूनों में बदलाव करके वह मजदूरों का शोषण करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के इन फैसलों को यूनियन कभी भी बर्दाश्त नहीं करेगी और सरकार का हर फ्रंट पर विरोध जताया जाएगा। 

डीजल और पेट्रोल के दामों की आसमान छूती कीमतों पर नाराजगी जताते हुए मौड़ ने कहा अंतरराष्ट्रीय बाजार में इनकी कीमत बेहद कम हैं, लेकिन यहां सरकार लगातार इसका रेट बढ़ा रही है इससे महंगाई बढ़ेगी। वक्ताओं ने सरकार को चेतावनी दी कि अगर मजदूरों के खिलाफ बनाए जा रहे कानून वापस न लिए गए तो संघर्ष को और तेज किया जाएगा।

 

Posted By: Vikas_Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!