नरेश कद, कपूरथला

थेह कांजला पर स्थित माडर्न जेल में बंद व कैदियों से मोबाइल बरामदगी का सिलसिला नहीं थम रहा है। जेल प्रशासन की सख्ती के बावजूद जेल कांप्लेक्स के भीतर कैदियों तक मोबाइल पहुंचने से जेल की सुरक्षा पर सवाल उठ रहे हैं। जिला पुलिस भी विशेष तौर पर जांच में जुट गई है। माडर्न जेल के सहायक सुपरिंटेंडेंट गुरजंट सिंह व शशिपाल ने बताया कि वह 13 सितंबर को पुलिस कर्मचारियों के साथ जेल के बैरक की चेकिग कर रहे थे। बैरक नंबर एक की तलाशी दौरान विचाराधीन कैदी रजिदर कौर पत्नी सोहन लाल निवासी महेड़ू से मोबाइल फोन, बैटरी व सिम के बरामद किया गया। इसके अलावा लेडिज बाथरूम से पांच मोबाइल, बैटरी और सिम लावारिस हालत में बरामद किया गया। जेल प्रशासन की शिकायत पर थाना कोतवाली की पुलिस ने आरोपित महिला के खिलाफ केस दर्ज किया है।

तीन महीने में कैदियों से मिले 300 मोबाइल

माडर्न जेल में पिछले तीन महीनों में 300 के करीब कैदियों और विचाराधीन कैदियों से मोबाइल फोन बरामद किए जा चुके हैं। वहीं एसपी जेल बलजीत सिंह घुम्मन का तबादला होने के बाद नवनियुक्त एसपी जेल गुरनाम लाल ने पदभार संभाल है।

माडर्न जेल में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं लेकिन कैदियों तक मोबाइल व नशीले पदार्थ का पहुंचना जेल प्रशासन के लिए चुनौती बना हुआ है।

जेल में तैनात निजी सुरक्षा कर्मचारी संदेह के घेरे में

माडर्न जेल में तैनात निजी सुरक्षा कर्मियों की कार्यप्रणाली संदेह के घेरे में है। जिला पुलिस ने लगातार हो रही मोबाइल फोन व नशीले पदार्थो की बरामदगी को देखते हुए जांच की प्रक्रिया तेज कर दी है। माडर्न जेल की कमान बीएसएफ से आए डिप्टी कमांडेट गुरनाम लाल के हाथों में आने से समाज विरोधी तत्वों पर सख्ती होने की संभावना बढ़ गई है जो कि कथित तौर पर मिलीभगत के कारण जेल में मोबाइल तथा नशीले पदार्थ पहुंचा रहे हैं।

जेल में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए जाएंगे : सुपरिंटेंडेंट

माडर्न जेल के नव नियुक्त सुपरिंटेंडेंट गुरनाम लाल का कहना है कि जेल में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए जाएंगे। इसके लिए वह डीसी दीप्ति उप्पल, एसएसपी हरकमलप्रीत सिंह खख व डिस्ट्रिक सेशन जज से भी मुलाकात कर चुके हैं। जेल में बंद कैदियों की हिफाजत के लिए भी कड़े सुरक्षा प्रबंध किए जा रहे है। सजा काटने के बाद बेहतर जीवन जीने के लिए जेल के अंदर कई तरह के प्रोजेक्ट लगाकर कैदियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

जिला पुलिस जेल प्रशासन का करेगी सहयोग : एसएसपी

एसएसपी हरकमलप्रीत सिंह खख का कहना है कि माडर्न जेल में कैदियों से मोबाइल मिलने के बाद मामला दर्ज करके कार्रवाई की जाती है। आरोपितों से सख्ती से पूछताछ की जाती है और उसके बाद बनती कार्रवाई की जाती है। उन्होंने कहा कि एसपी जेल गुरनाम लाल का जिला पुलिस पूरा सहयोग करेगी।

Edited By: Jagran