जागरण संवाददाता, कपूरथला : प्रदेश हुए बीज घोटाले की उच्च स्तरीय जांच व किसानों से धोखा करने वाले आरोपितों को सजा दिलाने के मकसद से जिले की शिरोमणि अकाली दल लीडरशिप ने वीरवार को डिप्टी कमिश्नर दीप्ति उप्पल मिल कर उन्हें मुख्य मंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की पूर्व प्रधान व स्त्री अकाली दल की अध्यक्ष बीबी जागीर कौर की अगुआई में दिए गए इस मांगपत्र में अकाली दल ने कहा कि प्रदेश में नकली बीज महंगे दाम पर किसानों को बेचने का एक बहुत बड़ा घोटाला सामने आया है, जिसकी तुरंत उच्च स्तरीय जांच करवाई जाए।

डिप्टी कमिश्नर दीप्ति उप्पल को ज्ञापन सौपने के दौरान बीबी जागीर कौर के अलावा पूर्व मंत्री डॉ. उपिंदरजीत कौर, शिरोमणि अकाली दल के जिला प्रधान जत्थेदार जागीर सिंह वडाला एवं हल्का इंचार्ज कपूरथला एडवोकेट परमजीत सिंह तथा शिरोमणि अकाली दल के अन्य सीनियर नेताओं ने कहा कि गत 11 मई को मुख्य खेतीबाड़ी अधिकारी लुधियाना की एक टीम ने पंजाब खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी लुधियाना में निजी बीज स्टोर पर चेकिग की। इस चेकिग दौरान दुकान में धान की किस्म पीआर 128 के 30 किलो वजन वाले 185 थैले, पांच किलो वजन वाले 5 व 10 किलो वजन वाले 67 थैले पकड़े गए। इसी प्रकार धान की किस्म पीआर 129 के पांच किलो वजन वाले 30 व 10 किलो वजन वाले 39 थैले पकड़े गए। कुल 750 क्विटल नकली बीज बरामद हुआ है।

शिअद नेताओं ने कहा कि धान की ये दोनों नई किस्में पंजाब खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी लुधियाना की ओर से सावन 2020 व 2021 सीजन दौरान किसानों को सिर्फ अपने कृषि विज्ञान केंद्रों में 70 रुपये प्रति किलो के हिसाब से दी गई। पंजाब खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी लुधियाना की ओर से ये स्पष्ट हिदायतें है कि उपरोक्त किस्मों का बीज कृषि विज्ञान केंद्रों से अलावा किसी भी अन्य संस्था या स्टोर पास नहीं है तथा न ही किसी को बेचने की प्रवानगी है। हैरानी की बात है कि लुधियाना की निजी बीज स्टोर मालिक की ओर से ये दोनों किस्में बिना किसी अमुमति के न सिर्फ बेची ही नहीं गई, बल्कि किसानों को 200 रुपये प्रति किलो यानी 20 हजार रुपये प्रति क्विटल के हिसाब से बेचकर मुनाफा कमाया गया। इससे किसानों का नुकसान हुआ है। खेतीबाड़ी विभाग अनुसार के अनुसार लुधियाना की निजी बीज स्टोर मालिक ने यह बीज जिला गुरदासपुर के निजी बीज स्टोर मालिक से खरीदा गया। उन्होंने कहा कि आरोपितों पर बहुत सारी गंभीर धाराएं लगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह बड़ी हैरानी की बात है कि लुधियाना के निजी बीज स्टोर मालिक के खिलाफ तो एफआइआर दर्ज कर दी गई है उसने जहां से नकली बीज खरीदा, उस बीज स्टोर मालिक के खिलाफ अभी तक कोई भी कार्रवाई नहीं की गई। जिससे उन्हें सियासी सरपरस्ती व मिलीभगत साफ जाहिर हो रही है। इस मौके पर जत्थेदार रणजीत सिंह खोजेवाल, अमरबीर सिंह लाली, जत्थेदार जरनैल सिंह डोगरांवाल, सतबीर सिंह बिटटू, कृष्ण टंडन, सतनाम सिंह, सुरजीत सिंह व अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!