कपूरथला, [हरनेक सिंह जैनपुरी]। श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर आयोजित समागम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी सुल्तानपुर लोधी आएंगे। समागमों के लिए पंजाब सरकार और एसजीपीसी (शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी) की ओर से अलग-अलग मंच तैयार करवाए जा रहे हैं। 12 नवंबर को प्रधानमंत्री किस मंच पर पहुंचेंगे, इसका फैसला गृह सचिव की रिपोर्ट करेगी। पंजाब सरकार और एसजीपीसी के अलग-अलग मंच को लेकर शायद पीएम दफ्तर भी दुविधा में पड़ गया है।

पंजाब सरकार और एसजीपीसी दोनों अलग-अलग बना रहे मंच, पीएम दफ्तर भी दुविधा में

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सोमवार को सुल्तानपुर लोधी पहुंचकर अधिकारियों के साथ समारोह स्थलों का निरीक्षण कर तैयारियों का जायजा लिया। एसजीपीसी गुरु नानक स्टेडियम और पंजाब सरकार के काली बेई के पास अपना मंच बना रही है।

श्री अकाल तख्त साहिब ने पंजाब सरकार और एसजीपीसी को आदेश दिया था कि वे प्रकाशोत्सव को संयुक्त तौर पर मनाएं। सरकार और एसजीपीसी के बीच तालमेल नहीं बन पाया है। अब यह देखने वाली बात होगी कि प्रधानमंत्री किसके मंच पर पहुंचेंगे या फिर दोनों के मंच पर जाएंगे।

सीएम और मंत्रियों को एसजीपीसी देगी पूरा सम्मान : जागीर कौर

एसजीपीसी की तालमेल कमेटी की सदस्य एवं पूर्व प्रधान बीबी जागीर कौर का कहना है कि एसजीपीसी के मंच से कोई भी राजनीतिक शब्दों का प्रयोग नहीं करेगा। पंजाब सरकार पता नहीं उनके साथ मंच पर आने से क्यों कतरा रही है। एसजीपीसी के मंच पर भी मुख्यमंत्री और मंत्रियों को पूरा सम्मान दिया जाएगा।

संगत का पैसा खराब करने पर तुली है एसजीपीसी : चन्नी

पंजाब के कैबिनेट मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी का कहना है कि पंजाब सरकार चाहती है कि एसजीपीसी साथ आए लेकिन पता नहीं क्यों वह संगत का 11-15 करोड़ रुपये खराब करने पर तुली है। मंगलवार को कैबिनेट मंत्री सुखङ्क्षजदर ङ्क्षसह रंधावा और तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा के साथ जाकर वे श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार से मिलेंगे। सरकार ने समागमों को सांझा तौर पर मनाने के लिए पूरी कोशिश की है। करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन पर एक ही मंच सरकार लगा रही है तो सुल्तानपुर लोधी में ऐसा क्यों नहीं। अकाली दल और एसजीपीसी की कोशिश है कि प्रधानमंत्री डेरा बाबा नानक से ही लौट जाएं।  

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: साईं मंदिर का दान पात्र खोला तो कमेटी के मेंबर रह गए दंग, निकले ऐसे नोट

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!