जागरण संवाददाता, कपूरथला : वर्ष 2021-22 के जुलाई में रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला ने एलएचबी डिब्बों के निर्माण में एक नया कीर्तिमान हासिल किया है। इस महीने आरसीएफ ने 164 डिब्बों का निर्माण किया है। इससे पहले पिछले वर्ष 2020-21 के जुलाई में आरसीएफ ने 151 डिब्बों का निर्माण किया था, जबकि वर्ष 2019 -20 के जुलाई में आरसीएफ ने 123 डिब्बे बनाए थे। इस जुलाई में औसतन आरसीएफ ने 6.07 कोच प्रतिदिन तैयार किया है। 2019-20 के जुलाई महीने में प्रतिदिन क्रमवार 5.59 और 4.73 का औसत रहा।

इस वित्तीय वर्ष के पहले चार महीनों में आरसीएफ ने कोरोना वायरस के कारण सीमित मैन पावर क्षमता से उत्पादन कार्य करते हुए 502 डिब्बों का निर्माण किया है। जुलाई में आरसीएफ ने 38 पार्सल वैन, 35 एसी थ्री टियर, 18 एसी थ्री टियर इकोनॉमी क्लास सहित महीने के 27 कामकाजी दिनों में 164 डिब्बों का निर्माण किया।

वर्ष 2021-22 में आरसीएफ का कोच उत्पादन का लक्ष्य 2000 कोचों से ऊपर है। इस वर्ष में आरसीएफ ने कालका-शिमला रेलवे के लिए नैरोगेज विस्टाडोम डिब्बे, तेजस स्लीपर क्लास कोच, ऐसी जनरल क्लास कोच जैसे नए डिब्बे बनाने हैं। आरसीएफ के मेहनती कर्मचारी इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। दूसरी ओर आरसीएफ प्रशासन ने बीएसएनएल के सहयोग से आर सी एफ कालोनी निवासियों के लिए हाई स्पीड इंटरनेट की सुविधा का प्रबंध किया है।

कोविड के प्रकोप के कारण कॉलोनी वासियों को वर्क फ्राम होम और स्कूलों से विद्यार्थियों के लिए आनलाइन कक्षाओं की वजह से उन्हें हाई स्पीड इंटरनेट सेवा की आवश्यकता महसूस हो रही थी। इसकी पूर्ति के लिए प्रशासन ने बी एस एन एल से सुविधा प्रदान करने के लिए संपर्क किया। कर्मचारियों और उनके परिजनों के हितों के मद्देनजर लाइसेंस फीस में छूट दी गई। अब बीएसएनएल द्वारा कालोनी में अंडरग्राउंड ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछा दी गई है और फिट टू दी होम कनेक्शन के तहत कालोनी निवासियों को मासिक बिल में पांच प्रतिशत की रियायत दी जाएगी। इस सुविधा से समस्त कालोनी निवासियों की हाई स्पीड इंटरनेट की आवश्यकता पूरी हो जाएगी।

Edited By: Jagran