जागरण संवाददाता, कपूरथला। विवादित धर्म गुरु राधे मां को जिले की फगवाड़ा पुलिस ने समन जारी कर पूछताछ के लिए हाजिर होने को कहा है। उन्हें यह समन विश्व हिंदू परिषद के पूूर्व जिला अध्यक्ष सुरिंदर मित्तल की शिकायत के मामले में भेजा गया है। मित्तल ने उन पर गालियां देने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया था। इस मामले मेें पुलिस ने राधे मां को पहले पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन वह नहीं आईं।

यह समन राधे मां के मुंबई के पते पर भेजा गया है। पुलिस का कहना है कि यदि राधे मां ने यह समन रिसीव नहीं किया तो इसे विशेष दूत से भेजा जाएगा। इस संबंध में फगवाड़ा के सुरिंदर मित्तल की तरफ से 13 अगस्त को शिकायत दी गई थी। उन्हाेंने अपनी शिकायत कपूरथला के एसएसपी कपूरथला रजिंदर सिंह को भेजी थी।

यह भी पढ़ें : राधे मां पर एक और खुलासा, बहु की हत्या में पिता व भाई जेल काट चुके हैं

उन्होंने राधे मां को ढोंगी बताते हुए उन पर अश्लीलता फैलाने व धर्म के नाम पर लोगों को ठगने के अारोप लगाए थे। उन्हाेंने कहा कि राधे मां के बारे में खुलासा करने पर उन्होंने फोन कर उन्हें (मित्तल को) गालियां दीं और जान से मारने की धमकी दी।

यह भी पढें : लुधियाना में दो लोगों ने राधे मां के खिलाफ कोर्ट में दी शिकायत

यह भी पढ़ें : मुकेरियां में राधे मां के खिलाफ प्रदर्शन, पुतला फूंका

एसएसपी ने इस मामले में फगवाड़ा के एसपी (डी) अश्वनी कुमार को जांच करने को कहा था। एसएसपी रजिंदर सिंह के अनुसार, पुलिस ने इस मामले में जांच के बाद राधे मां से फोन पर संपर्क कर उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया, लेकिन वह व्यस्तता की बात कह कर नहीं आईं। इसके बाद समन जारी करने का फैसला किया गया। एसपी (डी) अश्वनी कुमार ने बताया कि राधे मां को समन तालीम करवाने के लिए फगवाड़ा पुलिस की तरफ से विशेष मैसेंजर से समन भेजने की व्यवस्था भी की जा रही है।

यह भी पढ़ें : मलोट में राधे मां के खिलाफ पुलिस में दी शिकायत

यह है मामला

सुरिंदर मित्तल का कहना है कि 2002 में राधे मां एक जागरण में हिस्सा लेने फगवाड़ा आई थी और दुर्गा मां का स्वरुप धारण कर दुर्गा मां की तस्वीर के साथ बैठी थी। इसका मित्तल ने तीखा विरोध किया था। उन्होंने राधे मां के खिलाफ धरना दे दिया था।इस कारण राधे मां को वहां से जाना पड़ा था। तभी से मित्तल व राधे मां के बीच विवाद चलता आ रहा है।

सुरिंदर मित्तल का कहना है कि राधे में एक ढोंगी है जो काले जादू की मदद से चमत्कार करने का दावा कर धर्म की आड़ में लोगों को ठग रही है। उन्होंने बताया कि राधे मां की प्रताड़ना से दुखी मुम्मई की निक्की गुप्ता ने पिछले दिनों मदद के लिए उनसे संपर्क किया था।

'पहले लालच व प्यार का जाल और नहीं माने तो गालियां और धमकी'

फगवाड़ा के ग्रेटर कैलाश निवासी सुरिंदर मित्तल ने बताया कि राधे मां द्वारा निक्की के पति को ब्लैकमेल करने और झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर डराया जा रहा था। इस बारे निक्की ने मित्तल से मदद मांगी तो उन्होंने 2002 को उसके खिलाफ चले विवाद की कटिंग व अन्य सामग्री उसे भेज दी। इससे राधे मां तिलमिला उठीं। उन्होंने कुछ समय पूर्व फोन पर पहले उन्हें (मित्तल को ) ब्लैकमेल करने की कोशिश की, फिर धमकाने का प्रयास किया। एक करोड़ रुपये का लालच देने का भी प्रयास किया गया लेकिन वह राधे मां के झांसे में नहीं आए।

मित्तल ने कहा कि राधे मां ने उसे प्यार के जाल में फंसाने का हथकंडा भी अपनाया। वह इस झांसे में नहीं आए तो वह उन्हें गालियां देने लगीं और जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद उन्होंने पुलिस में शिकायत दी।

Posted By: Sunil Kumar Jha