संवाद सहयोगी, कपूरथला : मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह के आदेश व एसएसपी कंवरदीप कौर के निर्देशों पर फगवाड़ा, भुलत्थ, कपूरथला व सुल्तानपुर लोधी में पिछले 20 दिनों में जिला पुलिस ने बिना मास्क के घूमने वाले 15000 लोगों को काबू कर उनका कोरोना टेस्ट करवाया। जिन लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है उनको घर में ही क्वारंटाइन कर उपचार किया गया। जिले में सरकार के आदेश पर आइसोलेशन सेंटरों को बंद कर दिया गया। संक्रमित मरीजों पर न तो सेहत विभाग और न ही पुलिस प्रशासन नजर रख रहा है। सेहत विभाग पाजिटिव आने वाले मरीजों को सरकार की ओर से भेजी गई कोरोना किट देकर उन्हें घरों में रहकर ही इलाज करने करने की हिदायत दे रहा है। पाजिटिव मरीज सार्वजनिक स्थानों व बाजारों में घूमते नजर आते हैं जिससे संक्रमण की रफ्तार बढ़ रही है। बिना मास्क के घूमने वाले 15000 लोगों का कोरोना टेस्ट करवाने के बाद लगभग 800 लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। सेहत विभाग की ओर से मरीजों को घरों में रहकर ही उपचार करवाने के लिए कहा गया है। लगभग 1000 के करीब मरीज जालंधर के निजी अस्पतालों में अपना इलाज करवा रहे है। पिछले 17 दिनों में 50 के करीब कोरोना संक्रमित लोगों की मौतें हो चुकी है।

गंभीर मरीजों को मेडिकल कालेज अमृतर किया जा रहा रेफर : डा. राजीव

कोरोना महामारी के इंचार्ज डाक्टर राजीव भगत का कहना है कि मामूली लक्षण वाले मरीजों को घरों में रहकर ही इलाज के लिए कहा जाता है। उन्हें सरकार की से भेजी गई कोरोना किट मुहैया करवाई जा रही है। कोरोना किट में थर्मामीटर, स्ट्रीमर, मास्क, सैनिटाइजर, गिलोय टेबलेट, बीटाटीन, डोलो 650 एमजी, मल्टी विटामिन, लीवो सिट्राजीन, काढ़ा, विटामिन डी-3, जिक, एम्यूनिटी प्लस, काफ सिरप, पल्स आक्सीमीटर आदि उपलब्ध है। गंभीर मरीजों को मेडिकल कालेज अमृतसर भेजा जाता है। कई मरीज अपनी मर्जी से प्राइवेट अस्पतालों में इलाज करवा रहे हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप