संवाद सहयोगी, फगवाड़ा : नेशनल इंटीग्रेटिड मेडिकल एसोसिएशन की पंजाब राज्य कार्यकारिणी का नीमा फगवाड़ा के सौजन्य से आशीष कांटीनेटल होटल में सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन में पंजाब के कार्यकारिणी सदस्यों ने भाग लिया। इस अवसर पर नीमा के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. परविंदर बजाज ने इस बात की सराहना की कि प्रदेश भर के संयुक्त चिकित्सा पद्धति के डाक्टर समाज के हर वर्ग को बेहतर चिकित्सा सेवा दे रहे हैं। उन्होंने चिकित्सकों से आह्वान किया कि वे अपना कार्य सेवा भावना से करते रहें। बोर्ड आफ आयुर्वेद के रजिस्ट्रार डॉ. संजीव गोयल ने चिकित्सकों को विश्वास दिलाया कि वे उनके अधिकारों की रक्षा एवं सम्मान के लिए वचनबद्ध हैं। पंजाब से केंद्रीय कौंसिल आफ मेडीसन के सदस्य वैद्य जगजीत सिंह ने कहा कि वे संयुक्त चिकित्सा पद्धति के डाक्टरों के अधिकारों की रक्षा के लिए अपनी लड़ाई लड़ते रहेंगे। सम्मेलन में पंजाब के बोर्ड आफ आयुर्वेद के नवनिर्वाचित सदस्य डॉ. आइपीएस सेठी, डॉ. मनु शर्मा, डॉ. अनिल भारद्वाज, डॉ. अतुल सूद, डॉ. राजीव मेहता, डॉ. रवि कांत, डॉ. मनराज सिंह, डॉ. परवेश शर्मा, डॉ. संजीव पाठक, डॉ. रजनीश शर्मा के अतिरिक्त प्रदेशाध्यक्ष डॉ. परविंदर बजाज, कोषाध्यक्ष डॉ. विपुल कक्कड़, डॉ. पवन वशिष्ठ, सरंक्षक डॉ. सतिंदर कक्कड़ व केके डोगरा को दोशाला एवं उपहार भेंट कर सम्मानित किया गया। प्रदेश अध्यक्ष ने सराहनीय आयोजन के लिए नीमा फगवाड़ा के अध्यक्ष डॉ. बीएस भाटिया, सचिव डॉ. नीरज अब्बी तथा कोषाध्यक्ष डॉ. ललित वर्मा को गोल्ड मेडल भेंट किए, जबकि वरिष्ठ सदस्यों में डाक्टर जवाहर धीर, डॉ. विवेक महाजन, डॉ. केपी बग्गा, डॉ. सरबजीत कौर, संजय छाबड़ा, डॉ. नरोत्तम रवेती, डॉ. राकेश खोसला, डॉ. दीदार सिंह को सम्मानित किया गया। इस मौके पर डॉ. रमनदीप सिंह किन्नड़ा, डॉ. करमजीत सिंह, डॉ. रोहन ओहरी, डॉ. निखिल खोसला, डॉ. अजय ओहरी, डॉ. हरविंदर कौर, डॉ. तनु, डॉ. वीनू वर्मा, डॉ. अनुभा ओहरी का सराहनीय योगदान रहा। अंत में डा. जवाहर धीर ने सम्मेलन में उपस्थित हुए डॉक्टर्स का धन्यवाद किया।

Posted By: Jagran