संवाद सहयोगी, कपूरथला : गांव रूपनपुर व गांव धालीवाल दोना के कई परिवार शिरोमणि अकाली व बसपा को छोड़कर कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस में शामिल हुए। पार्टी में शामिल हुए परिवारों को शुभकामनाएं देते हुए मंत्री राणा ने कहा कि कांग्रेस की ओर से हमेशा ही प्रदेश व लोगों के हकों की लड़ाई लड़ी गई है। और आने वाले समय में भी प्रदेश के सर्वपक्षीय विकास व लोगों की भलाई के लिए किए जा रहे कार्यो को जारी रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी की अगुवाई वाली प्रदेश सरकार द्वारा हर वर्ग की भलाई के लिए अहम फैसले किए गए हैं। प्रदेश सरकार द्वारा हर वर्ग के दो किलोवाट तक के बिजली बिल बकाया माफ करने के अलावा तीन रुपये प्रति यूनिट सस्ती बिजली मुहैया करवाई जा रही है। राणा ने कहा कि प्रदेश का जितना भी विकास हुआ है वह सिर्फ कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान ही हुआ है। लोग कांग्रेस सरकार की नीतियों से संतुष्ट है। राणा ने कहा कि कांग्रेस की ओर से पार्टी वर्कर का पूरा मान सम्मान किया जाता है। उक्त परिवारों को भी कांग्रेस में शामिल होने पर पूरा मान सम्मान दिया जाएगा। कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने शिअद-बसपा को छोड़कर कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए परिवारों को सम्मानित भी किया। कांग्रेस में शामिल होने वालों में गांव रूपनपुर के सरपंच सुलक्खन सिंह, सुखदेव सिह, गुरदेव सिंह, शिदर सिंह, जगता सिंह, भूपिदर सिंह भिदा, जिदर सिंह, बलदेव सिंह, गुरप्रीत सिंह गोपी, मंगा राम, कपिल सिंह, डा. टोनी, सोनी, अमरजीत सिंह, सत्ता, शेलू, काला सिंह, देवी दयाल, करनैल सिंह, जरनैल सिंह, सुरिदर सिंह, गुरिदर सिंह, सुखविदर सिंह, कुलविदर सिंह, मनजीत सिंह, गुरदेव सिंह, महिदर कौर, जसविदर कौर, दर्शन कौर, सादर सिंह, गांव धालीवाल दोना से मलकीत सिंह, आत्मा सिंह,देवी दयाल, रजवंत सिंह, संतोख सिंह, मंगा बाबा, भोला यादव, हरजिदर कौर, मनजीत कौर, सुखविदर कौर, पम्मा भगत, बलदेव सिंह, महिदर सिंह, सुखबीर सिंह, सरवन सिंह, डा. सतपाल सिंह, बलविदर सिंह, बग्गा प्रधान, बोबी, रिषी कपूर आदि शामिल थे।

Edited By: Jagran