संवाद सहयोगी, कपूरथला : वीरवार सुबह गर्मी का भीषण जोर था लेकिन दस बजे के बाद आसमान में हलके बादल दिखाई देने लगे तथा धूल भरी आंधी एवं तेज हवाओं से कई पेड़ ही नही गिरे बल्कि पारा भी कुछ गिर गया। कुछ समय के लिए आसमान साफ दिखाई देने लगा लेकिन आधे घंटे के बीच फिर से बादल छाने लगे और बारिश शुरू हो गई। हालाकि यह बारिश हलकी ही रही, लेकिन इससे धरती की प्यास बुझने की बजाए और बढ़ गई।

उधर धान के सीजन के पीक सीजन दौरान पावरकाम की तरफ से निर्वाध बिजली सप्लाई काफी समय बाधित रही। वीरवार को कई घंटे के कट लगे, जिससे पावरकाम की धान के सीजन को लेकर तैयारियों को हवा निकल गई। उधर दिन भर की भीषण गर्मी के बीच वीरवार को मौसम ने करवट बदलने से ना सिर्फ मौसम सुहावना हो गया बल्कि जिले में कुछेक स्थानों पर हलका बूंदा बादी होने से लोगों ने गर्मी से राहत महसूस की। सुबह करीब दस बजे बादलों ने सूरज को ढक लिया। कई दिन से सूरज का कहर झेल रहे क्षेत्र वासी बूंदाबादी के कारण राहत महसूस करते देखे गए। बारिश से धान की बुआई में बारिश से काफी मदद मिलेगी।

बारिश से किसानों के चेहरे खिले

इस बारिश से किसानों के चेहरों पर रौनक लौट आई। मानसून में देरी और भीषण गरमी के चलते धान की बिजाई लेट हो रही थी। बारिश से कद्दू करने में मदद मिलेगी। जिले में करीब दो लाख 52 हजार हेक्टेयर रकबे पर धान की रोपाई की जाती है।

आने वाले दिनों में हो सकती है बारिश : अश्वनी

जिला खेतीबाड़ी अधिकारी अश्वनी कुमार ने कहा कि आने वाले दिनों में बारिश के आसार है, जिससे धान की फसल को काफी फायदा होगा। इस बारे में किसान सुरजीत सिंह काहना का कहना है कि उनके खेत को पानी की बहुत जरुरत थी और हलकी बारिश से उन्हें कुछ राहत मिली है।

Edited By: Jagran