जागरण संवाददाता, कपूरथला : बरसात के पानी की निकासी को लेकर गांव वडाला कलां के किसानों में शुक्रवार की रात को विवाद होने से स्थिति काफी तनावपूर्ण हो गई। वडाला कलां के कुछ किसान अपनी फसलों को बचाने के लिए वडाला-मैणवां सड़क तोड़ना चाहते है, परंतु इसी गांव के दर्जन से ज्यादा व्यक्ति सड़क तोड़ने का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि सड़क तोड़ दी तो पानी उनके घरों में आ जाएगा, जिसके चलते उन्हें नुकसान झेलना पड़ेगा। इसके चलते उन्होंने धरना लगा दिया।

किसानों ने बताया कि बरसात के पानी कारण वडाला कलां, फिआली व वडाला खुर्द की सैकड़ों एकड़ फसल पानी में डूब गई है व पानी का निकास न होने के कारण पानी खेतों में भरा हुआ है।

शनिवार की सुबह गांव के लोगों ने पानी की निकासी का मामला कांग्रेसी विधायक राणा गुरजीत सिंह, डिप्टी कमिश्नर दीप्ति उप्पल व अन्य अधिकारियों में ध्यान में लाया व उन्होंने पानी का निकास करने का भरोसा दिया। जिसके बाद दोनों पक्ष शांत हो गए व अब खेतों में पानी निकालने का प्रबंध किया जा रहा है। गांव के किसान ने बताया कि पानी का स्तर कुछ कम हुआ है, यदि ज्यादा बारिश न पड़ी तो ये समस्या अस्थायी तौर पर हल हो जाएगी, परंतु प्रशासन को इस समस्या का स्थायी हल निकालना पड़ेगा, ताकि लोगों को कोई मुश्किल न आए।

इस दौरान ही जिला यूथ अकाली दल के देहाती प्रधान मनवीर सिंह वडाला ने कहा कि प्रशासन को इस मामले के हल के लिए प्रयास करने चाहिए है, क्योंकि इस क्षेत्र में पानी के निकास का कोई ठोस प्रबंध नहीं है। जिस कारण लोगों को बरसात के मौसम में समस्या आती है। उन्होंने कहा कि यदि किसान अपने खेतों में पानी निकालने के लिए मैणवां वाली सड़क तोड़ते हैं तो आगे जालंधर व कपूरथला मुख्य सड़क होने के चलते दोबारा पानी का निकास रुक जाएगा, जोकि दूसरे किसानों के लिए भी परेशानी का कारण बन सकता है।

Edited By: Jagran