जागरण संवाददाता, कपूरथला : विरासती शहर के सबसे खूबसूरत क्षेत्र माल रोड, लोयर माल, सन्नी साइड व वसंत विहार में नियमों व कानून को ताक पर रख कर रिहाइशी इलाके में कामर्शियल इमारतों का निर्माण हो रहा है। क्षेत्रों के लोग कई बार जिला प्रशासन एवं नगर निगम पास शिकायत कर चुके है लेकिन इसके बावजूद प्रशासन लापरवाह बना हुआ है।

उक्त कालोनियों में रहने वाले लोगों ने डीसी चौक से सैनिक स्कूल तक नियमों को ताक पर रख कर हो रहे कामर्शियल इमारतों के निर्माण पर चिता जताते हुए मंगलवार को बसंत प्लाजा में प्रेस कांफ्रेस का आयोजन कर नगर निगम के अधिकारियों पर भ्रष्टाचार और अवैध निर्माण के प्रति जानबूझ कर आंखें बंद रखने के गंभीर आरोप लगाए हैं।

इस दौरान वसंत विहार वेलफेयर सोसायटी के सचिव पीएस वालिया ने कहा कि माल रोड शहर कपूरथला की शान है और पिछले करीब एक साल से नियमों को ताक पर रखकर कामर्शियल इमारतों का निर्माण हो रहा है, जिसके प्रति नगर निगम और जिला प्रशासन ने उदासीन रवैया अपनाया हुआ है। उन्होंने कहा कि डीसी चौक में एक नए कार्मशियल इमारत का निर्माण शुरू हो गया है जो डीसी चौक के बगल में स्थित सेना की ओर से स्थापित चयन केंद्र (उत्तर) की सुरक्षा के लिए भी खतरा पैदा कर सकता है। इस जगह पर देश भर के सैन्य अधिकारियों का चयन और प्रशिक्षण होता है।

उन्होंने बताया कि बहुमंजिला भवन के निर्माण से चयन केंद्र की सभी गतिविधियों को आसानी से निगाह रखी जा सकता है। इस संबंध में वह लोग चयन केंद्र के कमांडिग अफसर तथा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पहले ही शिकायत कर चुके है।

लोयर माल निवासी एचएस रंधावा ने बताया कि इस संबंध में कुछ माह पहले नगर निगम पास लिखित शिकायत की गई तो उन्होंने एक-दो दिन के लिए काम रुकवा दिया लेकिन अब इस पर फिर से काम शुरू हो गया है। इससे पहले भी माल रोड पर पार्किंग नियमों को ताक पर रखकर कामर्शियल भवन बनाए गए हैं, जिसकी शिकायत शुरुआती चरण में ही दर्ज कराई गई थी लेकिन निगम अधिकारियों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

माल रोड निवासी तिलक राज अनुसार क्षेत्रवासियों को अब व्यावसायिक गतिविधियों में वृद्धि के कारण काफी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि जितने भी नए कामर्शियल निर्णाण हो रहे है, उनमें कागजों में तो पार्किग दिखाई जा रही है लेकिन जमीनी स्तर पर पार्किग के लिए कोई जगह नही है। पार्किंग की सुविधा न होने के कारण पूरी पार्किंग सड़क पर हो रही है जिसके कारण 100 फीट चौड़ा माल रोड भी छोटा सा लगने लगा है। उन्होंने कहा कि पिछले एक-दो साल के निर्माण पर नजर डालें तो शहर में कई व्यावसायिक प्रतिष्ठान नए खोले गए हैं और नए भवन बनाए गए हैं जिनमें तमाम नियमों को ताक पर रखा निर्माण किया गया है।

पीएस वालिया ने बताया कि सैनिक स्कूल के प्रशासक मेजर जेबीएस बेग भी नगर निगम अधिकारियों से मिलकर स्कूल के किनारे अवैध निर्माण को लेकर अपनी और रक्षा मंत्रालय की चिता जाहिर कर चुके है लेकिन निगम अधिकारियों पर कोई असर नहीं पड़ा।

वरिष्ठ भाजपा नेता शाम सुंदर अग्रवाल ने बताया कि अवैध निर्माण से प्रभावित कालोनी निवासियों ने सीएम भगवंत मान को शिकायत भेजकर अवैध निर्माण रोकने की मांग की है। अगर जिला प्रशासन और सरकार अवैध निर्माण को रोकने के लिए कोई कारगर कदम नहीं उठाती है तो क्षेत्र निवासी हाईकोर्ट में रिट दायर करने को मजबूर होगे।

इस मौके पर मनोज चोपड़ा, मुनीष गुप्ता, हरीश वधवा, रमेश शर्मा अन्य लोग भी मौजूद थे।

Edited By: Jagran