संवाद सहयोगी, कपूरथला : बावा लालवानी पब्लिक स्कूल के केजी विग के विद्यार्थियों की ओर से अंतर्राष्ट्रीय मित्रता दिवस मनाया गया। पूरे विश्व में दोस्ती व दोस्तों के महत्व को समझने के लिए मित्रता दिवस मनाया जाता है। उल्लेखनीय है कि इस दिन को पहली बार 1958 में मनाया गया था। 27 अप्रैल 2011 को संयुक्त राष्ट्र संघ की आम सभा ने 30 जुलाई को आधिकारिक तौर पर इस दिन को इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे घोषित किया था। इस दौरान प्रि. एकता धवन ने विद्यार्थियों को शुभकामनाएं देते हुए प्रेरित किया कि जीवन में अगर सच्च दोस्त मिल जाए तो समझिए आपने सही मायने में कुछ कमाया है। दोस्ती एक ऐसा रिश्ता है जो आपसी समझ पर चलता है। हम अपने दोस्त से कभी भी और कुछ भी बेझिझक कह सकते हैं। यानि दोस्ती एक ऐसा रिश्ता है जिसमें आप जिदगी के कई रूप एक साथ देखते है।

फ्रेंडशिप डे पर विद्यार्थियों को बताया किताबों का महत्व

संवाद सहयोगी, कपूरथला : डिप्स स्कूल टांडा में फ्रेंडशिप डे पर विद्यार्थियों के लिए आनलाइन प्रोग्राम का आयोजन किया गया। जिसमें स्कूल के सभी विद्यार्थियों ने अपने दोस्तो के साथ दोस्ती के इस दिन को सेलिब्रेट करते हुए आनलाइन गेम खेली, पार्टी की और बहुत सारी मस्ती की। बच्चों ने अपने हाथ से अपने दोस्तों के लिए कार्ड, फ्रेंड शिप बैंड बनाए। कुछ विद्यार्थियों ने अपने छोटे भाई और बहन को कार्ड और बैंड देकर फ्रेंडशिप डे मनाया।

प्रिं. दिव्या चावला ने बच्चों को बताया कि दोस्ती दुनिया का एक ऐसा रिश्ता है जो सबसे अनमोल होता है। यह रिश्ता भले ही खून का नहीं होता है लेकिन दिल के सबसे करीब होता है। इसलिए अगर आपके पास दोस्त है तो उसके साथ अपनी दोस्ती हर समय और स्थिति में साथ रहना चाहिए।

एमडी तरविदर सिंह और सीईओ मोनिका मंडोत्रा ने विद्यार्थियों को बताया कि दुनिया में हमारी सबसे अच्छी दोस्त किताब होती है। इसिलए हमें किताबों से हमेशा दोस्ती करनी चाहिए क्योंकि उनसे हमें बहुत सारा ज्ञान मिलता है और वह ज्ञान एक दोस्त की तरह बुरे समय में हमारे साथ रहता है।

Edited By: Jagran