संवाद सहयोगी, फगवाड़ा : सर्व नौजवान सभा फगवाड़ा द्वारा प्रधान सुखविंदर सिंह के नेतृत्व में ग्रामीण स्तर पर वन महोत्सव का शुभारंभ गांव मस्त नगर में 150 पौधे लगा कर किया गया। पर्यावरण सुरक्षा को समर्पित अभियान को लेकर आयोजित समागम में मुख्यातिथि के रूप में विधायक बलविदर सिंह धालीवाल शामिल हुए। उन्होंने सभा द्वारा पर्यावरण सुरक्षा के लिहाज से किए प्रयास को प्रशंसनीय बताया व कहा कि पर्यावरण सुरक्षा आज विश्व स्तरीय चिता का विषय है। क्योंकि धरती का बढ़ता तापमान जीवन के लिए खतरा है। इसका बचाव ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाकर किया जा सकता है। फगवाड़ा ब्लाक में वन विभाग और समाज सेवी संस्थाओं के सहयोग से एक लाख पौधे लगाए जाएंगे, जिनकी परवरिश का भी उच्च स्तरीय प्रबंध किया जाएगा। उन्होंने पंजाब में भी वृक्षों की बड़े पैमाने पर हो रही कटाई को चितनीय बताया तथा कहा कि पंजाब सरकार द्वारा पहल कदमी करके पंजाब के कोने-कोने में खाली जगह पर पौधे लगाने की मुहिम छेड़ी गई है। प्रधानगी मंडल में शामिल उद्योगपति जतजिदर सिंह कुन्दी ने कहा कि शहरीकरण की वजह से पौधों की कटाई बड़े पैमाने पर जारी है। साथ ही इंडस्ट्री के प्रदूषण का बुरा प्रभाव भी पर्यावरण पर पड़ता है। प्रदूषण की वृद्धि को रोकने के लिए अधिक पौधे लगाना ही समाधान है। उन्होंने शहर व गांवों में अधिक से अधिक पौधे लगाने का वचन भी दिया। गुरमीत सिंह पलाही ने बढ़ते प्रदूषण पर चिता प्रकट कर पौधारोपण व पर्यावरण संबंधी जागरूकता लाने पर बल दिया। एसएचओ सतनामपुरा दर्शन सिंह, एपीओ सुरिन्दर कुमार, नंबरदार सुरिन्द्रपाल, इन्द्रजीत कौर सरपंच, तृप्ता शर्मा ने भी विचार पेश कि ए। सुखविंदर सिंह ने बताया कि सभा लंबे समय से फगवाड़ा के सुदंरीकरण के लिए प्रयत्नशील है। हर साल जो पौधे लगाये जाते हैं, वालंटियरों के सहयोग से उनकी सुरक्षा को सुनिश्चित बनाया जाता है। हरजिंदर गोगना ने पर्यावरण प्रदूषण संबंधी पुख्ता सुझाव पेश करने के साथ मंच संचालन भी बाखूबी किया। विधायक धालीवाल को सभा की ओर से सम्मानित भी किया गया। समागम के बाद पौधे लगाने में कवि रविंदर सिंह राय, देसराज झल्ली, प्रितपाल कौर तुली समाज सेविका, गुरदीप सिंह तुली, साहिबजीत साबी, अमरिंदर, नरिंदर कुमार स्टेनो, ओंकार जगदेव, समाज सेवक रमन नेहरा, कुलबीर बावा, नरिंदर सैनी, डा. नरेश बिट्टू, बलजीत कौर बुट्टर, कृष्ण कुमार हीरो कांग्रेस नेता, राम कुमार चड्ढा कांग्रेस नेता, एडवोकेट कुलदीप भट्टी, रूप लाल पंच, नैनदीप पंच, विनोद कुमार पंच, सुखविन्द्र कौर पंच, मीना रानी पंच, रशपाल कौर पूर्व सरपंच, मास्टर सुरिन्दर, मैडम पिकी, परविन्द्र कौर भोली ने योगदान दिया।