संवाद सहयोगी, नडाला : गांव नडाला के निकट गांव पंडोरी राजपूतों में पराली की संभाल संबंधी जागरूकता कैंप लगाया गया। इसमें आसपास के गांवो के किसानों ने भाग लिया। यह कैंप कृषि और किसान भलाई विभाग पंजाब जिला कपूरथला और आईटीसी इंडस्ट्रीज लिमिटेड कपूरथला के सहयोग से लगाया गया।

इस मौके पर कृषि विभाग के प्रतिनिधि गुरदीप सिंह ने किसानों को पराली न जलाने और इसको जमीन में मिलाने के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पराली जलाने से जमीन की उपजाऊ शक्ति कम होती है और इसकी भरपाई बाद में 1000रुपए प्रति एकड़ की दर पर खाद डाल कर करना पड़ता है। उन्होनें किसानो को जागरूक किया कि सुपर एसएमएस वाली कम्बाईन से धान की कटाई करके बिना पराली जलाएं।

कृषि सूचना अफसर सुखदेव सिंह ने पराली को जमीन में मिलाने के बाद धरती की गुणवत्ता में आते सुधार बारे में जानकारी दी। इस मौके पर गुरदेव सिंह कृषि सब इंस्पेक्टर नडाला ने किसानों को गेहूं का मंजूरशुदा बीज लेने के लिए आवेदन देने के लिए कहा। आईटीसी कपूरथला की मानव विकास संस्था के अनिल कुमार ने संस्था बारे में जानकारी दी।

इस मौके उपस्थित किसानों की तरफ से पराली को आग न लाने का विश्वास भी दिलाया गया। पंडोरी राजपूतां गांव के सरपंच बिक्रमजीत सिंह ने भी पराली प्रबंधन के तजुर्बे भी सांझे किये। कैंप में गुरभेज सिंह सरपंच पंडोरी अराईयां, मेंबर पंचायत रणधीर सिंह, सुखविन्दर सिंह, कुलबीर सिंह, जुगिन्दर सिंह, पूर्व मैंबर पंचायत रवेल सिंह, जसपाल सिंह शाह जी और अन्य किसान शामिल हुए। आईटीसी कपूरथला के अवतार सिंह जोहल, राजवंत सिंह और हरजीत सिंह ने इस कैंप को सफल बनाने में विशेष भूमिका निभाई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!