संवाद सहयोगी, फगवाड़ा : फगवाड़ा एनवायरनमेंट एसोसिएशन के प्रधान केके सरदाना के दिशा-निर्देशों के अनुसार एसोसिएशन के सचिव मलकीयत सिंह रघबोतरा के प्रयासों से विश्व जीव विभिन्नता दिवस ब्लड बैंक गुरु हरगोबिंद नगर में मनाया गया। समागम का शुभारंभ ज्योति प्रज्वलित करके किया गया। इसके बाद समागम में मुख्य अतिथि एवं वक्ता तौर पर पहुंची प्रोफेसर नवजोत कौर ने जैविक विभिन्नता के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि धरती मनुष्य के अलावा कई प्रकार के जीवों का घर है यह सभी एक दूसरे पर निर्भर रहते हैं। किसी एक के खत्म होने से हमारे जीवन पर बुरा प्रभाव पड़ता है। यहां तक कि हमारा अस्तित्व खतरे में पड़ सकत है। इस दौरान नेशनल अवार्डी मास्टर गुरमीत सिंह ने बताया कि इस बार यूएनओ की तरफ से प्राप्त विषय सभी सजीव के लिए सांझा भविष्य बनाना है। उन्होंने कुदरती स्त्रोतों के मनुष्य की ओर से किए जा रहे दुरुपयोग को लेकर चिता प्रकट की क्योंकि इससे जीव विभिन्नता नष्ट हो रही है। उन्होंने उदाहरण देकर बताया कि जंगलों की कटाई से जंगली जीव को बसेरा नहीं मिल रहा। प्रदूषण के कारण जीव मर रहे हैं। सीनियर पत्रकार टीडी चावला और मुख्य अध्यापक नरेश कोहली ने जीव विभिन्नता के महत्व बारे में अपने विचार पेश किए। प्रोफेसर डा. गुरप्रीत सिंह सैनी ने प्रोजेक्टर की मदद से जीव विभिन्नता के महत्व को समझाया। लेक्चरर संदीप सिंह और मास्टर नीतीश बत्रा के नेतृत्व में स्कूली विद्यार्थियों भी समागम में शामिल हुए। विद्यार्थियों के सवालों के जवाब भी वक्ताओं की ओर से दिए गए। अंत में तारा चंद चुंबर ने सभी गणमान्य का धन्यवाद किया। इस अवसर पर कृष्ण कुमार, मोहन लाल तनेजा, रूप लाल, अमरजीत डांग, एचएस कालडा, राम रतन वालिया, सुधीर शर्मा, परमजीत सिंह मैनेजर, आरपी नेहरा सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

Edited By: Jagran