जागरण संवाददाता, कपूरथला : थाना सिटी कपूरथला की पुलिस ने मृतक व्यक्ति की फर्जी बीमा पालिसी, फर्जी मौत का सर्टीफिकेट बनाकर बीमा के पैसे हासिल करने के आरोप में दंपती समेत उसके बेटे के खिलाफ धोखाधड़ी की अलग-अलग धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है। सभी आरोपित अभी फरार है। सूत्रों के अनुसार आरोपित महिला एजेंट ने ढ़ाई लाख रुपये तक की किश्त भरनी थी जिसके एवज में बीमाधारक को मौत के बाद करीब एकमुश्त 25 लाख रुपये मिलने थे। आरोपित महिला के पति पर पंचायत सचिव रहते मृत लोगों की पेंशन हड़पने के भी आरोप हैं और उसके खिलाफ अलग-अलग थानों में केस भी दर्ज हैं।

एसएसपी कपूरथला को दी गई शिकायत में निशान सिंह पुत्र स्वर्गीय रवेल सिंह निवासी गांव अकाला थाना भुलत्थ जिला कपूरथला ने बताया कि वह खेती का काम करता है। गांव निवासी रणजीत कौर पत्नी जरनैल सिंह एलआइसी एजेंट (कोड 1675152) है। शिकायर्ता ने बताया कि उसके रिश्तेदार सुखचैन सिंह पुत्र संतोख सिंह निवासी गांव अकाला थाना भुलत्थ जिला कपूरथला की मौत 25 सितंबर 2013 को हार्ट अटैक से हो गई थी। आरोपित रणजीत कौर ने मृतक सुखचैन सिह की फर्जी बीमा पालिसी (नंबर 133795685), 30 सितंबर 2013 को बनाकर एलआइसी दफ्तर भेज दी। पालिसी की किश्त भी वह खुद ही जमा करती रही। 27 मार्च 2017 को फार्म आफ चेंज आफ नोमिनेशन नंबर (3750) खुद ही भरा और खुद ही अटेस्ट किया तथा मृतक सुखचैन के फर्जी हस्ताक्षर करअपने बेटे रुपिंदरपाल सिंह पुत्र जरनैल सिंह रजिस्टेशन आफ नोमिनेशन भरकर सीनियर ब्रांच मैनेजर के पास भेज दिया। यह सब उक्त आरोपितों ने मृतक के बीमा के पैसे हड़पने के लिए किया है।

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि एलआइसी एजेंट रणजीत कौर का पति जरनैल सिंह पुत्र बुडढ़ा सिंह ने पंचायत सचिव रहते गांव बगाड़ीया के कई मृतकों की पेशन भी हड़प चुका है। उक्त दंपती ने अन्य लोगों के साथ भी ऐसी धोखाधड़ी की है।

मामले की जांच डीएसपी भुलत्थ ने की। उन्होंने जांच में पाया कि आरोपित महिला एजेंट कपूरथला के एक आफिस में काम करती है। उसका पति जरनैल सिंह सेवानिवृत्त पंचायत सचिव है। रणजीत कौर की सारी पालिसी का काम उसका पति जरनैल सिंह ही करता है। सुखचैन सिंह की मौत 25 सितंबर 2013 को हुई थी। आरोपित रणजीत कौर, जरनैल सिंह व इनके बेटे रुपिंदर सिंह ने सुखचैन सिह की मौत का सर्टिफिकेट 17 जून 2017 को तैयार किया और मृतक की फर्जी पालिसी 30 सितंबर 2013 को बना दी। आरोपितों ने पूछताछ में ऐसी किसी भी पालिसी से इनकार किया जबकि एलआइसी की पालिसी के कागजों पर रणजीत कौर की एलआइसी एजेंट की मुहर लगी है। इस पालिसी के पैसे हड़पने के लिए आरोपित दंपती ने अपने बेटे रूपिंदर सिह के पंजाब नेशनल बैंक खाता नंबर की फोटो कापी भी लगाई है। इसके अलावा रूपिंदर सिंह के दस्तखत वाली एक अर्जी एलआइसी मैनेजर कपूरथला के नाम लिखी गई है कि उसके ताये के बेटे जिसका पालिसी नंबर 133795685 है, दिल का दौरा पड़ने से 17 जून 2017 को मौत हो गई है। वह सुखचैन सिह का वारिस है अत: उसे क्लेम दिया जाए। थाना सिटी ने कार्रवाई करते हुए उक्त तीनो आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। उनकी गिरफ्तारी के लिए कल ही पुलिस टीम आरोपितों के गांव में दबिश देने जा रही है। आरोपितों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

इंसपेक्टर दर्शन सिंह, जांच अधिकारी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!