कपूरथला [हरनेक सिंह जैनपुरी]। सभ्याचार, साहित्य, कारोबार, खेल व राजनीति के क्षेत्र में दुनियाभर में पंजाब व पंजाबियत का नाम चमकाने वाली विश्व की 400 बेहद प्रतिष्ठित हस्तियों को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने विशेष तौर पर सम्मानित किया गया। गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के मौके मिले इस सम्मान को उन्होंने दुनिया के तमाम अवार्ड से ऊपर बताया।

सम्मान पाने वालों में वायुसेना प्रमुख रहे बीएस धनोआ, गोल्डन स्टार मलकीत सिंह, साहित्यकार सुरजीत पातर, तख्त श्री पटना साहिब के सिंह साहिबान रणजीत सिंह गौहर, सांसद हंसराज हंस व मनीष तिवारी, पूर्व मंत्री अश्वनी कुमार, फिल्म डायरेक्टर मनमोहन सिंह, कॉमेडियन जसविंदर भल्ला, इनोवा शू के मालिक मनजीत सिंह अलग, टिक्का शत्रुजीत सिंह, तिरलोचन सिंह, रणबीर सिंह जौहर, लार्ड स्वराज पाल, एडवोकेट केटीएस तुलसी, पीटर विरदी, अरुण शौरी, बाबा सेवा सिंह व जनरल जेजे सिंह शामिल रहे।

पंजाब तकनीकी यूनिवर्सिटी में आयोजित इस यादगारी सम्मान समारेाह में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरु नानक देव जी के नाम पर 11 यूनिवर्सिटियों में चेयर स्थापित करने का एलान भी किया। इनमें से सात यूनिवर्सिटी पंजाब, तीन बाहरी राज्यों व एक यूनिवर्सिटी ईरान की है। ये चेयर गुरु जी के जीवन, शिक्षाओं व खोज के उद्देश्य को लेकर स्थापित की जाएगी। मुख्यमंत्री ने दलबीर सिंह पन्नू की लिखी किताब 'द सिख हेरीटेज बिअर्ड बॉर्डर' व गुरु नानक देव जी के जीवन व शिक्षाओं पर आधारित एक ईरानी लेखक द्वारा फारसी में लिखी किताब भी रिलीज की।

यहां स्थापित होगी चेयर

ये चेयर पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला, आईके गुजराल पीटीयू कपूरथला, महाराजा रणजीत सिंह पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी बठिंंडा, लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी फगवाड़ा, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, घडुआ, चित्रकारा यूनिवर्सिटी राजपुरा, अकाल यूनिवर्सिटी तलवंडी साबो के अलावा आइटीएम यूनिवर्सिटी ग्वालियर, आरडीकेएफ यूनिविर्सटी भोपाल, जेआईएस यूनिवर्सिटी पश्चिमी बंगाल व यूनिवर्सिटी ऑफ रिलीजन, ईरान में स्थापित की जाएगी। समारोह में इन सभी यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर भी मौजूद रहे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!