संवाद सूत्र, फिल्लौर : पति पर ज्वलनशील पदार्थ डालकर उसे जलाकर मारने की कोशिश करने वाली पत्नी को पुलिस ने रोपड़ से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित कई महीनों से फरार चल रही थी।

थाना प्रभारी संजीव कपूर ने बताया कि अटवाल कालोनी का रहने वाला गुरप्रीत सिंह रेलवे विभाग में सरकारी नौकरी पर तैनात है। उसने पुलिस को एफआइआर दर्ज करवा बताया था कि फेसबुक के माध्यम से उसकी दोस्ती खन्ना की मनदीप कौर के साथ हुई थी। 2019 को दोनों ने शादी कर ली। शादी के कुछ दिन बाद ही पता चल गया कि पत्नी शराब पीने की आदी है। अपनी लत के कारण वह घर से कीमती सामान चुराने लगी। जब उसने इसकी शिकायत पत्नी के अभिभावकों से की तो उलटा उसे ही कसूरवार बनाने लगे। उसने बताया कि गत वर्ष 13 मई को जब वह घर में था तो पत्नी ने अपने माता-पिता के साथ मिलकर उसे मारने की योजना बनाई हुई थी। वह सो रहा था। पत्नी ने कमरे की लाइटें बंद करके उस पर स्पिरिट डालकर आग लगा दी और फरार हो गई। गुरप्रीत के चिल्लाने पर माता-पिता कमरे में पहुंचे तो वह आग की लपटों में घिरा हुआ था। अपने बेटे की आग बुझाते हुए बुजुर्ग पिता भी जख्मी हो गए। परिवार के लोग उसे सीएमसी लुधियाना ले गए। जहां डाक्टरों ने उसे 45 प्रतिशन जला हुआ घोषित कर दिया। वहीं आरोपित रमनदीप कौर पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर 17 महीनों से फरार चल रही थी। पुलिस ने मंगलवार को रमनदीप को रोपड़ के नजदीक एक गांव से गिरफ्तार कर लिया। थाना प्रभारी संजीव कपूर ने बताया कि रमनदीप कौर ने सेशन कोर्ट, हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में जमानत की अर्जी दाखिल की थी। मगर अदालत ने मंजूर नहीं की। पुलिस ने उसे अदालत में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है। मामले में रमनदीप के माता-पिता को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

Edited By: Jagran