जालंधर, जेएनएन। जालंधर के शाहकोट थाना क्षेत्र में एक होमगार्ड जवान के ड्यूटी पर होने के बाद भी उसकी गैरहाजिरी चढ़ाकर होमगार्ड विभाग का एसआइ रिश्वत मांग रहा था। विजिलेंस ने पांच हजार की रिश्वत लेते एसआइ को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। आरोपित के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। विजिलेंस ने यह कार्रवाई जालंधर में ड्यूटी करने वाले मेजर सिंह की शिकायत पर की है। विजिलेंस ब्यूरो के एसएसपी दलजिंदर सिंह ढिल्लों ने बताया कि होमगार्ड मेजर सिंह ने शिकायत दी थी कि वो जालंधर में ड्यूटी देता है। जब ड्यूटी के बाद वो रेस्ट पर जाता है तो पंजाब होमगार्ड के एसआइ जगीर सिंह, जो कि शाहकोट में तैनात है, उसकी गैरहाजिरी लगा देता था।

इस बारे में जब मेजर सिंह ने एसआइ जगीर सिंह से बात की तो उसका कहना था कि अगर उसे पूरा वेतन लेना है तो उसे सेवा पानी देनी होगी। बीते महीन एक मई से लेकर 31 मई तक वह ड्यूटी पर रहा, लेकिन जगीर सिंह ने उसकी गैरहाजिरी लगाकर उससे कहा कि अगर तुझे अपना पूरा वेतन चाहिए तो लिखित में दे। मेजर सिंह के लिखित में न देने पर जगीर सिंह ने खुद ही उसकी दर्खास्त लगा दी और पीड़ित से दस्तखत करा लिए। इसके बाद आरोपित ने पीड़ित को फोन कर कहा कि उसके पूरे महीने का वेतन उसके खाते में डलवा दिया है। अगर उसे हर महीने पूरा वेतन लेना है तो वो उसे पांच हजार की रिश्वत दे। शिकायत मिलने के बाद विजिलेंस ने इंस्पेक्टर राजविंदर कौर की अगुआई में एक टीम बनाई। गवाहों की मौजूदगी में आरोपित सब इंस्पेक्टर जगीर सिंह को नगर पंचायत कार्यालय के पास से दोपहर ढाई बजे पांच हजार की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया गया।

यह भी पढ़ें-  Jalandhar Covid Cases Update : जालंधर में कोरोना की चपेट में आए 65 लोग, 34 साल के युवक समेत दो की मौत

यह भी पढ़ें- जालंधर में भाजपा नेता राजन अंगुराल की शराब फैक्ट्री में एक्साइज विभाग की दबिश, 11 हजार खाली बोतलें मिलीं

 

Edited By: Vinay Kumar