जालंधर, जेएनएन। इस दीवाली में अगर आप बाजार से मिठाई खरीदने जा रहे हैं, तो सतर्क हो जाएं। इस बात का ध्यान रखें कि मिठाई के साथ आप बीमारी तो घर नहीं ला रहे हैं। जी हां, दिवाली के मौके पर मिठाइयों में खूब मिलावट की जा रही है। मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री करने वाले धड़ल्ले से लोगों की सेहत से खिलवाड़ कर रहे हैं। सेहत विभाग ने केवल औपचारिकता की कार्रवाई कर छोटी दुकानों में छापामारी कर सैंपल भरने तक ड्यूटी निभाई। पड़ोसी जिलों से देहात इलाकों में मिलावटी मिठाइयों की सप्लाई भारी मात्रा में हो रही है।

इस बीच सेहत विभाग ने त्योहार के सीजन में पिछले एक महीने में 75 जगह पर छापामारी तो की लेकिन मिलावटी व निम्नस्तरीय खाद्य पदार्थों की एक भी खेप सील नहीं की। हालांकि, पिछले साल मिठाइयों के 71 में से 29 सैंपल फेल पाए गए थे। सेहत विभाग की डायरेक्टर ने मिलावटखोरों की धड़पकड़ के लिए फूड विभाग की ओर से मुहिम के तहत छापामारी करने की बात कही है।

जानकारी के अनुसार जिले के सीमावर्ती देहात इलाकों में पड़ोसी जिलों से मिलावटी मिठाइयों की सस्ते भाव में बिक्री जोरों पर है। शहर के बाहरी व स्लम इलाकों के अलावा देहात इलाकों में दूसरे राज्यों से कारीगर आ कर निम्न स्तरीय मिठाइयां तैयार कर बेच रहे हैं। शहर के कई हलवाई भी दूसरे राज्यों व जिलों से निम्न स्तरीय खोया व पनीर मंगवा रहे हैं, लेकिन त्योहारी सीजन में मिलावटी पदार्थों को पकडऩे में सेहत विभाग फेल साबित हो रहा है। अभी तक सेहत विभाग को मिलावटी खाद्य पदार्थ बेचने वालों के खिलाफ 18 शिकायतें मिली थीं।

पिछले साल भरे गए सैंपल

> कुल सैंपल भरे 1040

> अनसेफ छह

> मिस ब्रांडेंड 331

> सब स्डैंडर्ड 170

> मिसलीडिंग  दो

> तंबाकू    दो

> एक्सपायरड चार 

कार्रवाई के लिए प्रदर्शन भी किया, लेकिन फायदा नहीं हुआ

शिवसेना समाजवादी के चेयरमैन नरिंदर थापर का कहना है कि मिलावटी व निम्न स्तरीय खाद्य पदार्थों की सूची तैयार करके देने के बावजूद विभाग ने कार्रवाई करने की जहमत नहीं उठाई। इस मामले को लेकर धरना-प्रदर्शन भी किया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

सेहत विभाग का दावा, भरे जा रहे सैंपल

सेहत विभाग की डायरेक्टर डॉ. अवनीत कौर ने कहा कि फूड विभाग त्योहार के सीजन में छापामारी कर सैंपल भर रहा है। विभाग रोज छापेमारी कर रहा है। किसी को मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री की सूचना मिलती है, तो वो स्थानीय सिविल सर्जन को इसकी जानकारी दे सकता है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!