जागरण संवाददाता, गुरदासपुर। माडर्न जेल कपूरथला से केंद्रीय जेल में शिफ्ट किए गए एक कैदी को अपने गुप्तांग में मोबाइल फोन और तंबाकू के पुडि़या छिपाना महंगा पड़ गया। डाक्टरों ने आपरेशन कर मोबाइल फोन और तंबाकू की पुडि़या निकाले। जानकारी के अनुसार जालंधर स्थित दकोहा के हरगो¨बद नगर निवासी अजय माडर्न जेल कपूरथला में कैद था। उसे 12 अक्टूबर को केंद्रीय जेल गुरदासपुर शिफ्ट किया गया था। मंगलवार रात दस बजे उसे केंद्रीय जेल गुरदासपुर में भेजा गया। उसकी तलाशी जेल में लगी एक्सरे मशीन से की गई तो उसके गुप्तांग में एक मोबाइल फोन और तंबाकू की दो पुडि़या पाई गईं।

इसकी सूचना केंद्रीय जेल में तैनात डाक्टर को दी गई। डाक्टर ने मोबाइल फोन को निकालने की काफी कोशिश की, लेकिन वे नहीं निकाल पाए। रात करीब एक बजे उक्त कैदी को सिविल अस्पताल में लाया गया, जहां से डाक्टरों ने उसे अमृतसर रेफर कर दिया। वहां आपरेशन कर उसके गुप्तांग से मोबाइल फोन और तंबाकू की पुडि़या बाहर निकाली गईं।। जेल सुपरिंटेंडेंट रजिंदर सिंह हुंदल ने कहा कि उक्त कैदी के खिलाफ अमृतसर के अस्पताल से रिपोर्ट आने के बाद मामला दर्ज किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपितों को भेजा जेल

जालंधर: फिल्लौर के अपरा कस्बे में जहरीला पदार्थ निगलने से हुई युवती की मौत के मामले में गिरफ्तार किए गए दोनों ही आरोपितों गोल्डी और रिक्की को पुलिस ने रिमांड खत्म होने के बाद जेल भेज दिया है। दरअसल बीते रविवार देर रात अपरा कस्बे की रहने वाली एक 24 साल की युवती ने आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने मृतका की मां के बयानों पर इलाके के ही रहने वाले गोल्डी व रिक्की के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था। पुलिस को दी शिकायत में मृतका की मां ने आरोप लगाया था कि इलाके के ही रहने वाले दो युवक उनकी बेटी को परेशान करते थे।

Edited By: Vinay Kumar