जालंधर, जेएनएन। यह पहला अवसर है गर्मी फरवरी में अप्रैल जैसा अहसास करवा रही है। कोहरे का असर कम होने के बाद सुबह से ही तेज धूप निकल रही है। अभी तक अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। शनिवार को ही सुबह से तेज हवाएं चली लेकिन धूप के कारण तापमान 28 डिग्री तक पहुंच गया। वहीं न्यूनतम तापमान न्यूनतम 11 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है।

ग्लोबल वार्मिंग जिम्मेदार

दोआबा कॉलेज में भूगोल विभाग के एचओडी डॉ. दलजीत सिंह ने कहा कि पिछले कई दिनों से बारिश न होने और ग्लोबल वार्मिंग के कारण तापमान में लगातार इजाफा हो रहा है। उन्होंने कहा कि पहाड़ों में ताजा बर्फबारी न होने से धूप की तेजी बढ़ी है। चंडीगढ़ में मौसम विभाग के निदेशक सुरिंदर पाल ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग के कारण ही फरवरी में तापमान में इजाफा हो रहा है। 

सेहत को लेकर रहें सावधान

इधर, बदलते मौसम का असर स्वास्थ्य पर भी पड़ने वाला है। सिविल अस्पताल के डॉ. तरसेम लाल ने कहा कि सर्दी कम होने से नजला व जुकाम में राहत मिलेगी लेकिन तापमान में इजाफे के साथ पेट संबंधित बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है।

गेहूं की पैदावार पर असर

किसान जसबीर सिंह ने कहा कि अचानक तापमान बढ़ने के कारण गेहूं का दाना कमजोर रह सकता है। इसका असर पैदावर पड़ना निश्चित है।

आने वाले पांच दिनों का संभावित तापमान

28 फरवरीः अधिकतम 27 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम 10 डिग्री सेल्सियस

1 मार्चः अधिकतम तापमान 27, न्यूनतम तापमान 9

2 मार्चः अधिकतम तापमान 28, न्यूनतम तापमान 11

3 मार्चः अधिकतम तापमान 29, न्यूनतम तापमान 14

4 मार्चः अधिकतम तापमान 31, न्यूनतम तापमान 13

वर्ष 2019 का अधिकतम व न्यूनतम तापमान

अधिकतम तापमानः 20

न्यूनतम तापमानः 10

वर्ष 2020 का अधिकतम व न्यूनतम तापमान

अधिकतम तापमानः 21 डिग्री सेल्सियस

न्यूनतम तापमानः 11 डिग्री सेल्सियस

वर्ष 2021 का अधिकतम व न्यूनतम तापमान

अधिकतम तापमानः 32 डिग्री सेल्समयस

न्यूनतम तापमानः 15 डिग्री सेल्ससय

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021