जागरण संवाददाता, जालंधर। जालंधर में सेंट सोल्जर ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा कैंसर प्रति जागरूक करने हेतु रोज डे मनाया गया। विद्यार्थियों ने सलोगन राईटिंग प्रतियोगिता के दौरान कैंसर के लिए जिम्मेदार तंबाकू ओर धूम्रपान ना करने का संदेश दिया। इस अवसर पर स्कूल प्रिंसिपल गगनदीप सिंह ने छात्रों को इस दिन के महत्व के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस दिन हर साल कैंसर के मरीजों को समर्पित होकर मलिंदा रोज की याद में रोज डे के रूप में मनाया जाता है। 12 वर्षीय मलिंदा को जब पता चला कि वह बल्ड कैंसर से पीड़त है तो उसने जीवन आशा नहीं छोड़ी। उसने अपने जीवन के बाकी बचे छह महीनों के हर दिन को कैंसर पीड़तों से मिलकर यादगार बना दिया। उसने आखरी सांस तक ई-मेल, कवितायों व पत्रों के द्वारा इस बात को सच कर दिया कि कैंसर के मरीज भी खुशियों से भरपूर जीवन बिता सकते हैं।

वाइस चेयरपर्सन संगीता चोपड़ा ने बताया के इस दिन कैंसर पीड़तों को गुलाब देकर उनमें जीवन के प्रति सकारात्मक सोच अपनाने के लिए प्रेरित किया जाता है। उन्होंने सभी छात्रों को आपने आस-पास कैंसर के मरीजों से मिलकर उत्साह भरपूर जीवन जीने के लिए प्रेरित करने को कहा। इस कार्यक्रम की खास बात यह रही कि स्कूल अध्यापिकाओं ने एक खास अकृति में खड़े हो कर कैंसर के मरीजों को जीवन आशा ना छोड़ने का संदेश दिया।

यह भी पढ़ें- ‘रब्ब दा नाम’ धार्मिक ट्रैक को किया रिलीज

गायक सुखविंदर पंछी के नए धार्मिक ट्रैक ’रब्ब दा नाम’ को इंप्रूवमेंट ट्रस्ट करतारपुर में चेयरमैन राजिंदरपाल सिंह राणा रंधावा एवं पार्षद ओंकार सिंह मिट्ठू ने संयुक्त रूप से रिलीज किया। सुखविंदर पंछी ने बताया कि इस गीत के लेखक फग्गन सिंह धामी अमेरिका, म्यूजिक डायरेक्टर मिस्टर यूआर, जबकि प्रोड्यूसर नागरा ब्रदर्स कनाडा हैं तथा पेशकश एवं लेवल म्यूजिक टाइम कनाडा कंपनी की है। गायक पंछी ने आगे कहा कि धार्मिक ट्रैक परमात्मा के नाम से जोड़ता है।

Edited By: Vinay Kumar