जागरण संवाददाता, जालंधर : बाल दिवस पर करतारपुर के गांव मुस्तफापुर व भोगपुर के गांव कराड़ी के बच्चों को स्मार्ट क्लासरूम का तोहफा मिला। डीसी वरिदर शर्मा ने वीरवार को इनका उद्घाटन किया।

डीसी ने कहा कि इस पहल का मकसद सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को उच्चस्तरीय शिक्षा प्रदान करना है। प्रशासन ने 45 स्कूलों में स्मार्ट क्लासरूम बनाने के लिए 17.90 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। इन क्लासरूम में विद्यार्थियों के सर्वपक्षीय विकास के साथ डिजिटल शिक्षा, विद्यार्थियों की प्राप्तियों, हाजिरी यकीनी बनाने के साथ संवादात्मक अध्यापन व अध्ययन को यकीनी बनाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इनमें बच्चे ऑडियो-विजुअल प्रेजेंटेशन के जरिए कोई भी चीज बारीकी से समझ सकेंगे। इस प्रोजेक्ट से सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को निजी स्कूलों के विद्यार्थियों से मुकाबला करने में मदद मिलेगी। इस प्रोजेक्ट के तहत बड़ा पिड, भटनूरा, भार सिंह पुरा, बंडाला, चक्क कलां, डरोली कलां, दादूवाल जंडियाला, कराड़ी, काला बकरा, करतारपुर, पतारा, कपूर पिड, कोटली थान सिंह, खांबड़ा व लसाड़ा के सरकारी स्कूल व सरकारी कन्या सेकेंडरी स्कूलों और लोहिया खास, लांबड़ा, मुस्तफापुर, महितपुर, मलसियां, नूरमहल, निहालूवाल, पत्तड़ कलां, फिल्लौर, प्रतापपुरा, आदमपुर, पूनियां, रंधावा मसंदा, रूड़का कलां, संगोवाल, शंकर, शमीपुर, समराए, तेहिग, उच्चा, मूलेवाल खेड़ा, बघेला, कुलार, खानपुर ढाडा, महिसमपुर व उग्गी के सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में स्मार्ट क्लासरूम बनाए गए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!