जागरण संवाददाता, जालंधर। सिखों की प्रमुख संस्था सिख तालमेल कमेटी ने स्पष्ट किया है कि साहिब कौर समूचे खालसा पंथ की धार्मिक माता है। इस संबंध में आयोजित बैठक के दौरान कमेटी के प्रमुख तेजिंदर सिंह परदेसी हरपाल सिंह चड्ढा और परीक्षा यूट्यूब हरजोत सिंह लकी सतपाल सिंह की गुरविंदर सिंह सिद्धू तथा विकी खालसा ने कहा कि सिखों की धार्मिक परंपरा तथा गुरुओं को लेकर गलत प्रचार करने की कोशिश की जा रही है। जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

यह भी पढ़ें-  Farmers Protest in Jalandhar : बिजली संकट से गुस्साए किसान 11 बजे पीएपी चौक में देंगे धरना, सरकार के खिलाफ करेंगे प्रदर्शन

 

इस दौरान उन्होंने कहा कि सिख सिद्धांत, सिखी विचारधारा प्रथा तथा सिख नौजवानों को गुमराह करने के लिए कभी गुरु तो कभी माता साहिब कौर को लेकर गुमराह करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि किसी भी वर्ग को कमजोर करने के लिए सबसे पहले उसके इतिहास तथा उसके सिद्धांतों को कमजोर करने की परंपरा रही है। जिसके तहत इस तरह की हरकतों को अंजाम दिया जा रहा है उन्होंने कहा कि मामले को लेकर श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह को भी आग्रह किया जाएगा। जिसमें सिख सिद्धांतों को लेकर गलत प्रचार करने वालों के खिलाफ मुहिम चलाए जाने की मांग रखी जाएगी।

इस अवसर पर उनके साथ हरप्रीत सिंह सोनू, गुरजीत सिंह, सतनामियां हरपाल सिंह पाली, चड्ढा गुरदीप सिंह लक्की, लखबीर सिंह लक्की, मनमिंदर सिंह भाटिया, प्रभजोत सिंह खालसा, गुरविंदर सिंह नागी, हरप्रीत सिंह रोबिन, अमनदीप सिंह, जितेंद्र सिंह, हरजीत सिंह, बाबा सरबजीत सिंह कालड़ा, हरविंदर सिंह चितकारा, अरविंदर सिंह, बबलू, सनी ओबरॉय, तेजिंदर सिंह संत नगर तथा कमलजीत सिंह जोनी सहित सदस्य मौजूद थे।

यह भी पढ़ें-  Punjab Power Crisis: किसानों ने जालंधर-दिल्ली नेशनल हाईवे किया ब्लाक; लुधियाना और अमृतसर आना-जाना मुश्किल

यह भी पढ़ें-   JEE एडवांस परीक्षा की आंसर की पर आपत्ति दर्ज कराने का मौका आज, आवेदन से चूके तो नहीं मिलेगा दोबारा मौका

 

Edited By: Vinay Kumar