संवाद सहयोगी, सुजानपुर। श्री रामलीला क्लब सुजानपुर 127 वर्ष पुरानी रामलीला क्लब है। इसके संस्थापक मल शाह सोनी के नेतृत्व में वर्ष 1895 में क्लब की शुरुआत की गई थी। पूर्व विधायक स्वर्गीय चमन लाल इसके प्रधान रह चुके हैं। वट वृक्ष का रूप धारण कर चुके श्री रामलीला क्लब सुजानपुर संबंधी जानकारी देते हुए क्लब के प्रधान तरसेम महाजन बजाज, वरिष्ठ उपाध्यक्ष अजय महाजन ने बताया कि उस दौर में रामलीला के मंचन के दौरान खूब भीड़ जुटती थी। लोग पूरी श्रद्धा के साथ रामलीला कार्यक्रम का आनंद लेते थे। 

विधायक चमन लाल भी रह चुके हैं क्लब के प्रधान

अजय महाजन ने बताया कि आजादी से पहले संस्थापक मल शाह सोनी के बाद वर्ष 1951 में प्रधान चमन लाल क्लब के प्रधान बने थे। बाद में वे वर्ष 1977 में विधायक बने। उनके निधन के बाद मास्टर रामचंद शर्मा को प्रधान बनाया गया। उनके बाद स्वर्गीय जोगिंदर पाल सोनी भी प्रधान रहे। उनके बाद स्वर्गीय खरादी महाजन प्रधान बने। पिछले 30 वर्षों से विनय महाजन प्रधान हैं। उन्होंने कि बताया कि रामशरणम् आश्रम के संस्थापक डा. विश्वामित्र महाराज भी वर्ष 1955 में रामलीला में सीता माता का किरदार निभा चुके हैं।

श्री रामलीला क्लब सुजानपुर के जितने भी प्रधान रह चुके हैं, सभी प्रधान कलाकार रूप में किरदार निभाते थे। उन्होंने कहा कि इस बार 25 सितंबर से श्री रामलीला शुरू होकर चार अक्टूबर तक चलेगी। इसके तहत 28 सितंबर को प्रभु श्री राम की बारात दोपहर 1:00 बजे रामलीला ग्राउंड सुजानपुर में धूमधाम से निकाली जाएगी। वहीं, पांच अक्टूबर को दशहरा मेला स्टेडियम ग्राउंड सुजानपुर में शाम 3:00 बजे शुरू होगा।

यह भी पढ़ेंः नवरात्र में व्रत रखने वालों के लिए बठिंडा में खास तैयारी, होटल व रेस्टोरेंट्स में मिलेगी 'स्पेशल थाली'

यह भी पढ़ेंः 1950 में शुरू हुआ बठिंडा में रामलीला का मंचन, जुटती थी भारी भीड़, खाली पैर ही देखने आते थे लोग

Edited By: Vinay Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट