जागरण संवाददाता, जालंधर : कोरोना महामारी के चलते पंजाब में लगाए गए मिनी लाकडाउन के बाद व्यापारी दुकानें खोलने को लेकर असमंजस में है। हालांकि सरकार ने जरूरी वस्तुओं की दुकानें खोलने व टेक अवे का नियम भी निर्धारित किया है। बावजूद इसके व्यापारियों में संशय बरकरार है। बुधवार को जिला व्यापार मंडल की बैठक में ऑड-ईवन फार्मूले को नामंजूर कर दिया गया। व्यापारियों ने कहा कि इससे व्यापारियों के बीच आपसी मतभेद बढ़ सकता है। इससे बेहतर सरकार को सभी तरह की दुकानों का समय दोपहर 12 से शाम 5 बजे तक निर्धारित कर दिया जाए। इस दौरान जिला व्यापार मंडल के प्रधान परविंदर बहल ने कहा कि संकट की इस घड़ी में संयम बनाए रखने की जरूरत है।

इसमें कम से कम व्यापारियों में आपसी मतभेद पैदा नहीं होना चाहिए। इसी तरह जालंधर इलेक्ट्रिकल ट्रेडर्स वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान ज्वाय मलिक व सुरेश गुप्ता ने कहा कि अगर सरकार व्यापारियों की मांग मान लेती है तो सरकार द्वारा कोरोना को लेकर निर्धारित किए गए तमाम नियमों की पालना ईमानदारी के साथ की जाएगी। इसी तरह जालंधर इलेक्ट्रिकलस मर्चेंट वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान मनोज कपिला व सचिव संजय कोछड़ ने कहा कि विपरित परिस्थिति में सरकार को व्यापारियों के हित का भी ध्यान रखना चाहिए। कारण, व्यापारियों ने हर मोर्चे पर सरकार का साथ दिया है। इस मौके पर उनके साथ अनिल सच्चर, कृष्ण लाल, माडल टाउन एसोसिएशन के प्रधान अनिल अरोड़ा सहित सदस्य मौजूद थे।

Edited By: Jagran