जालंधर, जेएनएन। नाबालिग युवती का अपहरण कर उसका शारीरिक शोषण करवाने का आरोप साबित होने पर मां-बेटी को सात-सात साल की कैद सजा सुनाई है। इसके साथ ही दोनों को 20-20 हजार रुपये का जुर्माना भरना पड़ेगा।

थाना पांच की पुलिस ने अगस्त 2014 में उक्त मां-बेटी के खिलाफ आइपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया था। पांंच साल चले केस में उक्त दोनों मां-बेटी पर आरोप था कि उन्होंने देह व्यापार करवाने के लिए पहले नाबालिग युवती को अपने जाल में फंसा बहला-फुसला उसके घर से भगाया और फिर युवती से देह व्यापार करवाने के लिए मजबूर किया। जज मनदीप कौर ने मां-बेटी पर लगे आरोपों को सही पाते हुए दोनों की सजा सुनाई है। जबकि जुर्माने की 20-20 हजार राशि न देने पर छह-छह माह की कैद की सजा बढ़ाने के फैसला सुनाया है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sat Paul