जासं, जालंधर

सातों दिन मार्केट तो खुलने लगी है, लेकिन अभी काम ने तेजी नहीं पकड़ी है। जब तक लोगों के पास पैसा नहीं होगा, मार्केट के हालात नहीं सुधर सकते हैं। सवा साल से स्कूल बंद पड़े हैं, जिससे बच्चों की वर्दियां नहीं बिक रही हैं। ये बातें दैनिक जागरण के फेसबुक लाइव में लाडोवाली रोड मार्केट के दुकानदारों ने कहीं। उन्होंने कहा कि सरकार व सेहत विभाग कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकें, क्योंकि मार्केट खुलने से संक्रमण भी फैलेगा। इससे बचाव के लिए पुलिस व सेहत विभाग सख्ती करे और वैक्सीनेशन का काम जल्द से जल्द पूरा किया जाए।

----- मार्केट सातों दिन खोलने की जरूरत नहीं। अभी संक्रमण पूरी तरह रुका नहीं है। अब समय की अवधि बढ़ाने की जरूरत नहीं, क्योंकि अभी तो सिर्फ काम करियाना व दवाइयों का ही है। जिसे जरूरत है वो शुक्रवार तक अपनी बाकी जरूरतें पूरी कर सकता है।

भूपिदर सिंह

---------- सवा साल से अधिक समय हो गया है, स्कूल बंद पड़े हुए हैं। इससे उनका स्कूल ड्रेस का काम पूरी तरह से बंद है, क्योंकि आर्थिक तंगी की वजह से लोग परेशान हैं। हालात जल्द सुधरे, इसके लिए कैंप लगवाकर अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई जाए।

अजय कुमार

------ स्कूल ड्रेसें नहीं बिक रही और न ही बच्चों के ज्यादा कपड़े बिक रहे हैं। काम पहले भी मंदा था और अभी भी वैसा ही है। हालात में कोई सुधार नहीं हुआ है। यह तब तक नहीं हो सकता जब तक वैक्सीनेशन की प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती। सरकार इस ओर ध्यान दे।

ओम प्रकाश

-------- सातों दिन शोरूम खुलने के बावजूद अभी हालात पहले जैसे नहीं हो पाए हैं। अभी हालात सुधरने में समय लगेगा। अधिक से अधिक लोग वैक्सीन लगवाएं, ताकि कोरोना संक्रमण को जड़ से खत्म किया जा सके। कोरोना से बचने का यही एकमात्र उपाय है।

हरजीत सिंह

-------- मार्केट पूरी तरह से खुलने के बावजूद काम नहीं है। यह लोगों का डर ही है जो वो खुल कर बाहर नहीं आ रहे हैं। इस डर को दूर करने के लिए सरकार को वैक्सीनेशन तेज करनी चाहिए। जब संक्रमण का डर नहीं रहेगा तो लोग घरों से बाहर निकलेंगे।

नरिदर

--------- वैक्सीनेशन कैंप दूर दराज लगाने के बजाय हर गली मोहल्ले में लगाने चाहिए। इससे हर इलाके के लोग आसानी से वैक्सीन लगवा सकेंगे। बाजार की स्थिति ठीक करने के लिए यह जरूरी है। अभी ज्यादा लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं, जिससे मंदी के हालात हैं।

जसकरन

-------- मार्केट के हालात सुधारने के लिए एक ही हल नजर आता है और वो है वैक्सीनेशन। प्रशासन जल्द से जल्द वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को पूरा करवाए, ताकि लोगों का डर खत्म हो सके। अभी दुकानदारी ठीक से नहीं चल रही है। पहले जैसे ही हालात हैं।

हरदेव सिंह

-------- हालात पूरी तरह से सुधरे तो नहीं हैं, पर मार्केट चलने लग पड़ी है। ग्राहकों को समय अधिक मिल गया है, जिससे वे अपनी सुविधानुसार आने लगे हैं। हालांकि डर अब भी बना हुआ है। कोरोना को रोकने के लिए जिला प्रशासन और सेहत विभाग को सख्ती करनी चाहिए।

कमलजोत सिंह

--------- कोरोना काल की वजह से सातों दिन मार्केट भले खुल गई है, मगर स्थिति में कोई ज्यादा फर्क नहीं आया है। लोगों का डर और जब तक उनके हालात नहीं सुधरेंगे, मार्केट नहीं सुधर सकती। बच्चों के कपड़े ज्यादा नहीं बिक रहे हैं। लोग सावधानी बरत रहे हैं।

सतीश कुमार

-------- मार्केट में पूरी तरह से मंदी पड़ी हुई है। हालात सुधरते अभी तक तो नजर नहीं आ रहे हैं। बस वैक्सीन ज्यादा से ज्यादा लोगों को लगे और वे फिर से रूटीन की तरह आने लगे, तभी कुछ हो सकता है। इसके लिए सेहत विभाग को कदम उठाना चाहिए, ताकि डर खत्म हो।

बबलू

Edited By: Jagran