जालंधर, जेएनएन। फिल्लौर व शाहकोट सब डिविजन में कुछ दिन पहले आई बाढ़ से 270 करोड़ का नुकसान हुआ। इसमें 224 करोड़ नुकसान तो फसलों का ही है। शुक्रवार को बाढ़ प्रभावित इलाकों का जायजा लेने पहुंची केंद्र सरकार की टीम को डिवीजनल कमिश्नर बी. पुरुषार्था और डिप्टी कमिश्नर वङ्क्षरदर शर्मा ने यह मुआवजा रिपोर्ट सौंपी।

केंद्रीय गृह विभाग के संयुक्त सचिव अनुज शर्मा की अगुवाई में सात सदस्यीय केंद्रीय टीम यहां पहुंची थी। इसमें खेतीबाड़ी के सहायक कमिश्नर अशोक कुमार सिंह, निदेशक (एडमिनिस्ट्रेशन) एच. अथेली, सीईए डायरेक्टर रिशिका शरन, चीफ इंजीनियर पीके शाक्य, केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय के अंडर सेक्रेटरी (स्किल) भीम प्रकाश और जल शक्ति मंत्रालय के एसई (तालमेल) विनीत गुप्ता शामिल थे।
 

केंद्रीय टीम ने सुबह पहले गांव महिराजवाला में 11केवी सब स्टेशन का दौरा कर बिजली सप्लाई के बुनियादी ढांचे के नुकसान का जायजा लिया। इसके बाद गांव चक्क बंडाला, मंडाला छन्ना, मुंडी चोलियां, गट्टा मंडी कासू व नल गांव का दौरा किया। टीम ने बाढ़ पीडि़तों से बातचीत भी की। उन्होंने गांव जानियां व गट्टा मंडी कासू में धुस्सी बांध में पड़ी दरार को भी देखा।


इस मौके एडीसी कुलवंत सिंह, एसडीएम शाहकोट डॉ. चारुमिता, एसई ड्रेनेज मनजीत सिंह, पावरकॉम के एसई इंदरपाल सिंह, जिला शिक्षा अफसर हरिंदरपाल सिंह व रामपाल सैनी, मुख्य खेतीबाड़ी अफसर डॉ. नाजर सिंह, पशुपालन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. एमपीएस बांगड़, जिला माल अफसर जश्नजीत सिंह, एक्सईएन कुलविंदर सिंह, अजीत सिंह, राम रतन, माल अधिकारी इंदरदेव मिन्हास व स्वपनदीप कौर मौजूद थे।
 

22 जगहों पर पड़ी थी दरार

डीसी वरिंदर शर्मा ने बताया कि भाखड़ा डैम से फ्लड गेटों के जरिए 2.40 लाख क्यूसिक पानी छोड़ा गया था, जिसकी वजह से जिले की सीमा में सतलुज दरिया पर बने धुस्सी बांध पर 22 जगह दरार पड़ी थी। इससे शाहकोट व फिल्लौर तहसीलों में फसलों, बुनियादी ढांचे, बिजली सप्लाई आदि को नुकसान पहुंचा था।
 

किस नुकसान के लिए कितना मुआवजा मांगा
फसल                           224 करोड़
घर                              15 करोड़
पशु                             78.25 लाख
धुस्सी बांध की रिपेयर    20 करोड़
सड़कों की मरम्मत        07  करोड़
रजबाहों की मरम्मत     1.50 करोड़
ट्रासफार्मर-मीटर          1 करोड़
लोगों का शारीरिक नुकसान   04 लाख
लोगों के रहने का प्रबंध    30 लाख,
खाना-पानी                    80 लाख
बाढ़ के पानी की निकासी  15 लाख

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pankaj Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!