जागरण संवाददाता, जालंधर:

मकसूदां मंडी में दिनदहाड़े बाइक सवार तीन झपटमार एक्टिवा सवार मुनीम से सवा दो लाख रुपये से भरा थैला छीनकर फरार हो गए। झपटमारी के दौरान मुनीम एक्टिवा से गिरकर घायल हो गया। मुनीम को निजी अस्पताल में दाखिल कराया गया है। मंडी में दिनदहाड़े हुई झपटमारी की वारदात से व्यापारियों में हड़कंप मच गया। सूचना पर एसीपी नार्थ नवनीत माहल व अन्य अधिकारी मौका-ए-वारदात पर पहुंचे और शहर में झपटमारों की धर-पकड़ के लिए जिलेभर की पुलिस को अलर्ट किया। फिलहाल बदमाशों के बारे में पुलिस को कोई सुराग नहीं लगा है।

पुलिस के अनुसार बदमाशों ने पहले रेकी की और उसके बाद वारदात को अंजाम दिया। लुटेरों को पता था कि मुनीम किस समय रकम लेकर जाएगा।

मकसूदां मंडी में फल के आढ़ती सतीश ने बताया कि मकसूदां मंडी में उनकी ओम फ्रूट ट्रे¨डग कंपनी है। उनकी आढ़त पर उनके ताया का बेटा बलदेव राज मुनीम का काम करता है। दोपहर 12.20 बजे वह फल मंडी से पैसे कलेक्शन कर मंडी में ही सब्जी की आढ़त की दुकान नंबर 30 पर अपनी एक्टिवा पर जा रहा था। बलदेव राज ने मंडी से एकत्रित किए रुपये कपड़े की गठरी में डाल कर डोरी से गठरी को अपनी कलाई से बांध रखा था। 12.24 बजे बलदेव राज मंडी में 52 नंबर आढ़त की दुकान के पास पहुंचा, तभी पीछे से एक बाइक पर सवार तीन युवकों ने उनके पास आकर बाइक धीरे किया और उनकी कलाई में बंधी रुपयों की गठरी को झपट लिया। इससे बलदेव राज स्कूटी समेत जमीन पर गिर पड़ा। बाइक सवार झपटमारों ने बलदेव को दो घूसे भी मारे। झटका मार कर हाथ से बंधी गठरी की डोरी तोड़ दी और रुपयों की गठरी समेत फरार हो गए। स्कूटी समेत नीचे गिरने और झपटमारों के साथ हाथापाई में मुनीम बलदेव राज जख्मी हो गया। उसे शहर के एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया गया है। पुलिस के अनुसार झपटमारों की तस्वीरें मंडी की एक दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है।

-----

बुखार था, इसलिए नहीं कर पाया झपटमारों का मुकाबला: बलदेव

झपटमारों का शिकार हुए मुनीम बलदेव राज ने बताया कि उसे सुबह से ही बुखार था। जिस समय उसके साथ झपटमारी की वारदात हुई, उस समय उसे तेज बुखार था। इसलिए वह झपटमारों का मुकाबला नहीं कर पाया। बलदेव राज ने कहा कि अगर उसे बुखार न होता तो वह झपटमारों को रुपये छीन कर नहीं ले जाने देता। जो सीसीटीवी फुटेज मिली है, साफ नहीं है: माहल

एसीपी नार्थ नवनीत माहल ने बताया कि मंडी में झपटमारों की जिस सीसीटीवी से फुटेज मिली है, उसमें उनके चेहरे व बाइक बहुत साफ नजर नहीं आ रहे। मंडी के अंदर लगे सभी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज जांच के लिए मंगवाई गई है ताकि झपटमारों की साफ तस्वीर मिल सके। एसीपी ने कहा कि जालंधर पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। अलर्ट के दावे ने तोड़ा दम, पुलिसकर्मी खेल रहे थे वीडियो गेम

वारदात के बाद पुलिस को हाई अलर्ट पर करने के एसीपी नार्थ नवनीत माहल के दावे आधे घंटे के बाद ही मौका-ए-वारदात से महज एक किलोमीटर दूर स्थित वर्कशॉप चौक पर दम तोड़ते नजर आए। वर्कशाप चौक पर तैनात पीसीआर वैन नंबर चार के दोनों कर्मी गाड़ी से बाहर निकलकर एक स्टैंड पर बैठे अपने अपने मोबाइल पर वीडियो गेम खेलते नजर आए। किसी तरह की कोई चैकिंग नाके पर नहीं चल रही थी, जब उनकी तस्वीर खींची गई तो दोनों पुलिस वाले झट से अपने मोबाइल जेब में डालकर सड़क पर चे¨कग करने लगे।

Posted By: Jagran