अंकित शर्मा, जालंधर

गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी से बीए, बीएससी के फाइनल ईयर के नतीजे घोषित करने से पहले ही पोस्ट ग्रेजुएशन के दाखिले बंद हो गए। अगर विद्यार्थी पोस्ट ग्रेजुएशन करना चाहते हैं तो उन्हें अब 25 हजार रुपये देने होंगे। हालांकि यूनिवर्सिटी की फीस महज 2400 से 2500 रुपये ही है। ऐसी स्थिति में 12 से 13 हजार विद्यार्थियों को अपने करियर की चिता सताने लगी है।

यूनिवर्सिटी कैलेंडर के अनुसार नतीजा निकलने के 14 दिनों तक विद्यार्थी दाखिला ले सकते हैं, मगर अब तो पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाले विद्यार्थी दाखिला ही नहीं ले पाएंगे। यूनिवर्सिटी की तरफ से इस संबंध में कोई फैसला नहीं लिया जा रहा है। यही नहीं यूनिवर्सिटी के पदाधिकारी इस संबंध में कुछ भी कहने को तैयार नहीं हैं। खास बात यह भी है कि यूनिवर्सिटी कैंपस में दाखिला लेने के लिए कोई लेट फीस नहीं है, मगर एडिड कालेजों के विद्यार्थियों पर 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जा रहा है। जीएनडीयू से जुड़े हुए जालंधर, अमृतसर, गुरदासपुर, पठानकोट व कपूरथला में करीब 60 कालेज हैं। इनमें जालंधर के ही 17 कालेज हैं। पंजाब चंडीगढ़ कालेज टीचर्स यूनियन के महासचिव सुखदेव सिंह रंधावा का कहना है कि यूनिवर्सिटी के गलत रवैये के खिलाफ हाल ही में उच्च शिक्षा मंत्री तृप्त राजिदर सिंह बाजवा को मांगपत्र दिया गया है, ताकि वे विद्यार्थियों के हक में कदम उठाए। विद्यार्थियों ने डीसी के पास उठाया मामला

डीसी घनश्याम थोरी के साथ विद्यार्थियों व कालेजों के प्रतिनिधियों की संयुक्त बैठक में भी यह मुद्दा उठा। विद्यार्थी दीपक, नवदीप, सुनैना व कुलजीत कहना है कि स्कालरशिप का पैसा पहले ही रुका होने की वजह से वे आगे की पढ़ाई नहीं नहीं पा रहे हैं। कारण, कालेजों की तरफ से दाखिला नहीं दिया जा रहा है। अब यूनिवर्सिटी की तरफ से 25 हजार रुपये जुर्माना लगा दिया है। यह है यूनिवर्सिटी की फीस का शेड्यूल

बिना लेट फीस के तीन नंबर

छह नवंबर से 100 रुपये लेट फीस

10 नवंबर से 200 रुपये लेट फीस

13 नवंबर से एक हजार रुपये लेट फीस

17 नवंबर तक 5000 रुपये लेट फीस

अब 25 हजार रुपये लेट फीस

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप