जासं, जालंधर

इंजीनियरिग कालेजों में दाखिले के लिए ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (जेईई मेन्स) के पहले सेशन में वीरवार को 1100 विद्यार्थी शामिल हुए। जिले में परीक्षा का केंद्र जालंधर-फगवाड़ा नेशनल हाईवे स्थिति सेफ्रान मॉल में बनाया गया था। इस दौरान कई विद्यार्थियों का मास्क उतरवाकर नया सर्जिकल मास्क दिया गया। वहीं ईयर रिंग्स व हाथ में पहने कड़े भी उतरवा लिए गए। जिन विद्यार्थियों ने फूल स्वेटर या जैकेट पहने थे, उनकी बाजू पर टेप चिपका दी गई। फिर मेडिकल स्क्रीनिग के बाद ही सभी को प्रवेश दिया गया।

परीक्षा केंद्र में दो आब्जर्वर और एक सीटी कोआर्डिनेटर लगाया गया था। मेरिटोरियस स्कूल की कुसुम का कहना था कि परीक्षा ज्यादा टफ तो नहीं थी, मगर लैंथी जरूर ज्यादा थी। केमिस्ट्री के भाग में ज्यादा न्यूमेरिकल थे, जिन्हें करने में ज्यादा समय लगा। साधना का कहना था कि परीक्षा थोड़ी टफ लगी, मगर इस बार तैयारी अच्छी थी। जिस सेशन में बेहतर नतीजा, वही होगा मान्य

अभी तक नेशनल टेस्टिग एजेंसी की तरफ से वर्ष में दो बार जेईई मेन्स की परीक्षा ली जाती थी। इस बार यह परीक्षा चार बार होनी है। इसका मकसद यह है कि विद्यार्थी किसी कारणवश एक सेशन की परीक्षा में नहीं बैठ पाए तो भी वे अगले सेशन में सुविधा अनुसार आवेदन कर सकें। विद्यार्थियों के अंक जिस सेशन में अधिक होंगे, वही मान्य होंगे। अब दूसरी परीक्षा का सेशन 15 से 18 मार्च, तीसरा सेशन 27 से 30 अप्रैल और चौथा सेशन 24 से 28 मई को होगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021