जालंधर, जेएनएन। रेलवे की तरफ से सोमवार से स्टेशन पर रिफंड के काउंटर भी खोल दिए गए हैं। इस वजह से सुबह काउंटर खोलने के बाद ही सिटी रेलवे स्टेशन पर बड़ी तादाद में यात्री टिकटों का रिफंड लेने के लिए स्टेशन पर जुटने शुरू हो गए थे। हालांकि बुकिंग क्लर्क के पास ज्यादा नकदी ना होने की वजह से भी परेशानी हुई। दरअसल, ईद का दिन होने की वजह से बैंकों में छुट्टी थी और ज्यादा नकदी इकट्ठा नहीं की गई थी।

बुकिंग स्टाफ और खुद सीएमआई दीपक केपी जोज़फ ने व्यवस्था बनाई की जिन यात्रियों का रिफंड 4000से 5000 है। उन सभी को एक तरफ इकट्ठा कर लिया गया और उनके ट्रेन टिकट का पीएनआर नंबर और मोबाइल नंबर नोट कर लिया गया। मकसद यह था कि सारी व्यवस्था करने के बाद यात्रियों को बुला कर उन्हें टिकट का रिफंड दिया जा सके। विवरण लेने के बाद उन्हें घर वापस भेज दिया गया। 

रात 8 बजे के बाद दिन भर के हुए रिफंड को कंपाइल किया जाएगा। उसके बाद ही पता चल पाएगा कि कितने यात्रियों ने ट्रेन टिकट रद करवाई और कितना रिफंड रेलवे की तरफ से वापस किया गया। 

शारीरिक दूरी के नियम का किया पालन

टिकट काउंटरों के आगे व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिए शारीरिक दूरी का ख्याल रखा गया। रेलवे की तरफ काउंटर विंडो के आगे गोल घेरे बनाए गए हैं। इन्हीं में खड़े होकर लोगों ने रिफंड के लिए टिकटें रेलवे स्टाफ को दी। 

पहले दिन 350 टिकटें रद, 1.90 लाख रिफंड

इधर, देर शाम तक रेलवे की तरफ से सोमवार को ट्रेन टिकट रिफंड काउंटर खोलकर पहले दिन 350 टिकटें रद्द की गई और 1. 90 लाख रुपया यात्रियों को रिफंड दिया गया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!