मनोज त्रिपाठी, जालंधर। कांग्रेस के पूर्व राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष्‍ज्ञ राहुल गांधी आज जालंधर आएंगे । इस दौरान वह जालंधर से ही पूरे पंजाब कि कांग्रेस की सियासत को नई दिशा देने की काेशिश करेंगे। राहुल का यह दौरा कांग्रेस की सियासत के नए समीकरण तय करेगी। राहुल गांधी कांग्रेस उम्मीदवारों को जीत का मंत्र भी देंगे।

जालंधर से आयोजित की जाने वाली वर्चुअल रैली में राहुल गांधी के साथ और कौन-कौन से कांग्रेसी दिग्गज रैली को संबोधित करेंगे, इसे लेकर बुधवार को खींचतान जारी है। राहुल गांधी का यह दौरा पंजाब में कांग्रेस द्वारा विधानसभा चुनाव से पहले बनाए गए दलित सियासत के समीकरणों के मद्देनजर काफी अहम माना जा रहा है। सबसे ज्यादा दलित वोट बैंक वाले दोआबा से राहुल गांधी इसीलिए पंजाब के चुनावी प्रचार का आगाज कर रहे हैं।

दलित वोट बैंक पर कांग्रेस की पकड़ और मजबूत बन सके, इसीलिए कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को किनारे कर तमाम दावों के बीच चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बना दिया था। पार्टी ने संकेत दे दिया था कि पंजाब में कांग्रेस अब दलित सियासत को सबसे आगे लेकर चलेगी। राहुल के दौरे के मद्देनजर ही चरणजीत सिंह चन्नी ने गणतंत्र दिवस समारोह में झंडा फहराने के लिए जालंधर का चुनाव किया था। बुधवार को झंडा फहराने के बाद चन्नी ने भी कांग्रेसियों के साथ बैठक करके राहुल गांधी के आगमन की तैयारियों की समीक्षा की। इस मौके पर पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत भी मौजूद थे। इसमें कांग्रेस विधायकों व उम्मीदवारों के साथ राहुल गांधी की वर्चुअल रैली तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया। 

राहुल के दौरे से बनेंगे कई समीकरण

जालंधर जिले की जालंधर पश्चिम, करतारपुर, आदमपुर, फिल्लौर सहित दोआबा की एक दर्जन से ज्यादा विधानसभा सीटों पर दलित वोट बैंक निर्णायक होता है। इसीलिए कांग्रेस उन्हें किसी भी कीमत पर अपने पक्ष में करना चाहती है। इसी कारण राहुल गांधी अपने चुनावी अभियान का आगाज जालंधर से कर रहे हैं। राहुल का यह दौरा कांग्रेस के लिए विधानसभा चुनाव में कई समीकरण बनाएगा।

Edited By: Pankaj Dwivedi