मनुपाल शर्मा, जालंधर। दो सप्ताह से ट्रेनों का सामान्य संचालन शुरू होने का इंतजार कर रहे रेल यात्रियों के लिए राहत की खबर है। जालंधर से लगभग तमाम ट्रेनों का संचालन पूर्व की ही तरह चालू हो गया है। किसान मजदूर संघर्ष समिति के रेल रोको आंदोलन के कारण जालंधर से अमृतसर, जालंधर से जम्मू एवं जालंधर से दिल्ली रेलखंड पर चलने वाली तमाम ट्रेनों का संचालन बंद हो गया था। इस वजह से पंजाब के बाहरी राज्यों की तरफ जाने वाले लोगों को भारी समस्याओं से जूझना पड़ा था। कई लोगों की तरफ से तो अपनी यात्रा प्लानिंग को ही बदल देना पड़ा। 

आखिरकार मंगलवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के साथ हुई बैठक के बाद किसान मजदूर संघ समिति की तरफ से राज्य में सात विभिन्न स्थानों पर रेल ट्रैक पर दिया गया धरना समाप्त कर दिया गया और रेल यातायात बहाल होना शुरू हो गया था।

रेलवे से प्राप्त जानकारी के मुताबिक अब जालंधर छावनी से पठानकोट, जम्मू उधमपुर, श्री माता वैष्णो देवी कटड़ा, जालंधर सिटी से पठानकोट, जम्मू, जालंधर सिटी से अमृतसर, जालंधर से फिरोजपुर और जालंधर से दिल्ली सेक्शन पर सभी ट्रेनों का संचालन शुरू हो चुका है। वीरवार को जालंधर से मात्र एक पैसेंजर ट्रेन संचालित नहीं हो पाई थी, जबकि नांदेड़ स्पेशल एक्सप्रेस भी रद्द थी। शुक्रवार को सुबह 11 बजे तक अमृतसर दिल्ली शताब्दी, अमृतसर हावड़ा, दिल्ली अमृतसर दिल्ली शान-ए-पंजाब, दिल्ली जम्मू वैष्णो देवी कटरा सेक्शन पर चलने वाली राजधानी एवं तेजस एक्सप्रेस का संचालन भी चालू हो गया है। अलबत्ता रेल यातायात बहाल होने के तीन दिन बाद भी रेल यात्रियों की संख्या में गिरावट महसूस की जा रही है।

हालांकि रेल यातायात को बहाल होने में लगभग तीन दिन का समय लगा। वजह यह थी कि ट्रेनों का सामान्य आवागमन शुरू करने के लिए रैक उपलब्ध नहीं थे। जो ट्रेनें पंजाब के बाहरी स्थानों से चलाई जा रही थी। उन्हें वापस गंतव्य तक पहुंचाना जरूरी हो गया था, ताकि समय पर ट्रेनों का संचालन शुरू हो सके।

Edited By: Pankaj Dwivedi