धर्मवीर सिंह मल्हार, तरनतारन। पाकिस्तान अपनी करतूतों से बाज नहीं आ रहा है। उसकी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस (आइएसआइ) पंजाब को एक बार फिर अस्थिर करने के मंसूबे पाले हुए है। नापाक पड़ोसी ने पंजाब का माहौल बिगाड़ने लिए धार्मिक और सियासी नेताओं को टारगेट बनाने की साजिश रची है। इसके लिए ड्रोन के माध्यम से पंजाब में आईईडी, असलाह और मादक पदार्थों की खेपें भेजी हैं। साथ ही, धमाके करने के लिए आधा दर्जन आतंकियों को तैयार किया है। 

सीआईए स्टाफ तरनतारन की टीम ने आईएसआई से जुड़े तीन से पांच आतंकियों को आई 20 कार पर जाते शुक्रवार को दबोच लिया। इनसे बारीकी से पूछताछ की जा रही है। इन आतंकियों में दमनजीत सिंह काहलों निवासी तलवंडी खुम्मन (जेंतीपुर) बटाला, परमिंदर सिंह पिंकी निवासी गांव हरशिया ( बटाला) गुरदासपुर और मुकेश कुमार मेशी निवासी गांव जांबा खेड़ी (थाना नीलखेड़ी) जिला करनाल हरियाणा शामिल हैं।

सूत्रों की माने तो एसएसपी रणजीत सिंह ढिल्लों ने खूफिया सूचना के आधार पर इन आतंकियों को काबू करके भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री, हथियार और आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किए हैं। इनके खिलाफ थाना सदर तरनतारन में मुकदमा दर्ज किया गया है। इनकी गिरफ्तारी से पंजाब के धार्मिक और सियासी नेताओं को टारगेट करने की बड़ी साजिश नाकाम हो गई है। 

पंजाब को दहलाने के लिए विदेश से फंडिंग

प्रारंभिक जांच में सामने आया हैं कि गैंगस्टर रह चुके ये आरोपित कुछ समय से पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईइसआइ के संपर्क में थे। इनको पंजाब को दहलाने लिए विभिन्न शहरों में धमाके करने के लिए विदेशों से बकायदा फंडिंग भी करवाईं गई है।

खालिस्तानी विचारधारा वाले युवाओं को जोड़ रहे थे साथ

खालिस्तानी विचारधारा वाले युवाओं को अपने साथ जोड़ने लिए यह आरोपित कुछ दिनों से यह सरगर्म थे। एसपी इन्वेस्टिगेशन विशालजीत सिंह ने कहा कि उक्त मामले बाबत उच्च सत्र पर जांच जारी है। जल्द ही मीडिया से जानकारी सांझी की जाएगी।

Edited By: Pankaj Dwivedi