जागरण संवाददाता, जालंधर। 27 सितंबर को कृषि कानूनों के विरोध में किसानों की भारत बंद की काल के मद्देनजर सोमवार सुबह छह बजे से कोई भी ट्रेन गेटमैन की क्लीयरेंस के बिना आगे नहीं बढ़ सकेगी। छह बजे के बाद अंबाला से किसी भी ट्रेन को आगे बढ़ने के लिए सीएचसी सीएचजी क्लीयरेंस लेनी जरूरी होगी। रेलवे के फिरोजपुर मंडल के सीनियर डिविजनल आपरेशंस मैनेजर (डीओएम) ने रविवार आज रात 12 बजे से रेलवे अमले को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से रेलवे ट्रैक पर धरना देने का एलान किया गया है। हालांकि उनकी ओर से यह नहीं बताया गया कि वे कहां धरना देंगे। 

रेलवे ट्रैक पर जमावड़े की रिपोर्ट तुरंत दें

निर्देश में यह भी कहा गया है कि रेलवे ट्रैक के नजदीक होने वाले भी किसी भी जमावड़े की तुरंत रिपोर्ट दी जाए। इसके अलावा ट्रेन बंद होने की सूरत में रेलवे स्टेशन पर फंसने वाले यात्रियों के लिए भी तमाम सुविधाएं एवं मदद उपलब्ध करवाने के लिए कहा गया है। रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों के आवागमन संबंधी पब्लिक अनाउंसमेंट सिस्टम (पीएएस) से निरंतर जानकारी देने और रेलवे स्टेशन पर पीने के पानी समेत खाने पीने का पर्याप्त इंतजाम करने के भी निर्देश दिए गए हैं। 

आरपीएएफ और जीआरपी को सतर्क रहने के निर्देश

रेलवे अमले के साथ-साथ आरपीएफ और जीआरपी के संपर्क में भी रहने को कहा गया है। इसके अलावा रेलवे स्टेशन के ऊपर रिफंड प्रक्रिया जरूरत पड़ने पर अति शीघ्र निपटाने को कहा गया है। उन सभी रेलवे स्टेशन के ऊपर टीआई अथवा एसएस को मौजूद रहने के लिए कहा गया है, जहां पर ट्रेन रुकने की संभावना है। इसके अलावा रेलवे कोच में पानी का इंतजाम करने एवं अन्य किसी भी शिकायत को तुरंत अटेंड करने के निर्देश हैं।

यह भी पढ़ें - Farmers Bharat Bandh: जालंधर में कल बंद रहेगी थोक सब्जी-फल मंडी, मोबाइल की दुकानें भी नहीं खुलेंगी

यह भी पढ़ें - Punjab Teachers Protest: रूपनगर में हेडवर्क्स पुल की रेलिंग पर चढ़े प्रदर्शन कर रहे शिक्षक, रेगुलर किए जाने की मांग

Edited By: Pankaj Dwivedi