जासं, जालंधर। शिक्षा मंत्री परगट सिंह की डीसी आफिस में शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ पहली मीटिंग मुश्किल में घिर गई है। धान खरीद में देरी को लेकर किसानों ने पहले उनके घर पर प्रदर्शन किया और अब उनका सर्किट हाउस में घेराव कर दिया है। वे केंद्र और राज्य सरकार के विरोध में नारेबाजी कर रहे हैं।  किसानों ने परगट सिंह का सर्किट हाउस में घेराव कर दिया है। किसानों का कहना है कि वह मंत्री की गाड़ी के आगे से नहीं उठेंगे और ना ही उन्हें बाहर जाने देंगे।

शिक्षा एवं खेल मंत्री सर्किट हाउस के अंदर ही मौजूद हैं। किसानों ने मांग की है कि धान की खरीद शुरू की जाए किसान धान लेकर मंडी पहुंच रहे हैं पर खरीद न होने से उन्हें निराशा झेलनी पड़ रही है। 10 दिन में किसानों की फसल खराब होने का खतरा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने केंद्र सरकार के साथ मिलकर किसानों के खिलाफ साजिश रची है। जब तक मामले को लेकर कोई समाधान नहीं हो जाता, तब तक किसान धरने पर बैठे रहेंगे और परगट सिंह को बाहर नहीं निकलने देंगे।

उधर, परगट  सिंह ने कहा कि इस मामले में लेकर उनकी बात हुई है। उन्होंने चंडीगढ़ में तालमेल कर समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया है। शिक्षा एवं खेल मंत्री ने कहा कि उनकी किसानों के साथ बातचीत हुई है। धान की खरीद तुरंत शुरू करवाने के मामले को लेकर चंडीगढ़ में संपर्क बनाए हुए हैं।

डीसी आफिस में अधिकारी कर रहे इंतजार

इधऱ, शिक्षा व खेल मंत्री परगट सिंह का किसानों की तरफ से घेराव किए जाने से डीसी ऑफिस में मीटिंग अभी तक शुरू नहीं हो पाई है। डीसी आफिस में होने वाली बैठक में  राज्य भर के जिला शिक्षा अधिकारी के साथ साथ विभाग के ही वरिष्ठ अधिकारी भी पहुंचे हैं। इसमें वे शिक्षा विभाग की नीतियों को जानने के साथ अपने विचारों को भी सांझा करेंगे। इस दौरान शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार, डीपीआई सेकेंडरी सुखजीत पाल सिंह, डीपीआई एलिमेंट्री हरविंदर कौर सहित आला अधिकारी पहुंच चुके हैं। ऐसे में पूरे पंजाब के शिक्षा अधिकारी और शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी डीसी ऑफिस के मीटिंग हॉल में उनका इंतजार कर रहे हैं। इस वजह से उनकी पहली मीटिंग को लेकर ही संशय बना हुआ है कि आखिरकार यह मीटिंग होगी भी या नहीं।

Edited By: Pankaj Dwivedi