जालंधर, जेएनएन। भारतीय जनता पार्टी 2022 तक राज्य में सबसे बड़ी पार्टी होगी। फिर इसी आधार पर शिरोमणि अकाली दल के साथ सीटों का बंटवारा किया जाएगा, लेकिन यह तय करना पार्टी के संसदीय बोर्ड की जिम्मेदारी है। यह कहना था वीरवार को जागरण प्रेस परिसर पहुंचे प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और राज्यसभा सदस्य श्वेत मलिक का।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के पार्टी में लौटने की कोई संभावना नहीं है। सिद्धू एक नकारे हुए नेता हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा ने दो लाख के लक्ष्य के मुकाबले दस लाख नए सदस्य बनाए हैं। सदस्यता अभियान को विशेषकर मालवा में जबर्दस्त समर्थन मिला है। गांवों में भी भाजपा की सदस्यता बढ़ रही है। यही वजह है कि 2022 तक भाजपा को पंजाब में सबसे बड़ी पार्टी बनने से कोई नहीं रोक सकता।

उन्होंने कहा कि राज्य में शिअद के साथ भाजपा का नाखून और मांस का रिश्ता है। अकाली दल एनडीए का पुराना और मजबूत हिस्सा है, इसलिए जब सीटों के बंटवारे की बात आएगी तो हाईकमान द्वारा ही पार्टी की ताकत के अनुसार बातचीत को अंतिम रूप दिया जाएगा। यह तय है कि पहले की तुलना में भाजपा की हिस्सेदारी ज्यादा होगी। उन्होंने कहा कि पार्टी में किसी तरह के मतभेद नहीं हैं। राजोआणा के मुद्दे पर कहा कि इतिहास में ऐसे कई उदाहरण हैं। उन्होंने कैप्टन सरकार की नीतियों की कड़ी निंदा की।

पंजाब के पास अन्य राज्यों के लिए पानी नहीं

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मलिक ने कहा कि पंजाब के पास अन्य राज्यों को देने के लिए पानी की एक अतिरिक्त बूंद भी नहीं है। चंडीगढ़ का मसला भी आपसी सहमति से सुलझाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पंजाबी उनकी मातृभाषा और पहली भाषा है, इसके प्रचार और प्रसार के लिए काम करना चाहिए। हिंदी राष्ट्रीय भाषा है और इसके प्रचार-प्रसार के लिए भी इसी शिद्दत के साथ काम करना चाहिए।

पंजाब के विकास के लिए की राज्यसभा में आवाज बुलंद

श्वेत मलिक ने कहा कि बतौर सांसद उन्होंने न केवल अमृतसर के लिए, बल्कि राज्य के चौतरफा विकास के लिए राज्यसभा में आवाज बुलंद की है। इसके साथ ही सरकार की कई अन्य योजनाओं को पंजाब में लागू करवाया।

राजोआणा की सजा बदलने के फैसले का सही बताया

राजोआणा की फांसी उम्रकैद में बदले जाने पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सारा कार्य संविधान के दायरे में किया गया है। श्री गुरु नानक देव जी ने भी मानवता का संदेश दिया है। इसलिए उनके 550वें प्रकाश पर्व पर सजा भुगत चुके सिख कैदियों को रिहा करने और फांसी की सजा हटाने का वह स्वागत करते हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pankaj Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!