जालंधर, [कमल किशोर]। आंध्र प्रदेश में हुई नेशनल जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में राज्य के एथलीटों का निराशाजनक प्रदर्शन रहा है। इस बार पंजाब ने 88 एथलीट के नामों की सूची भेजी थी। जिसमें 52 लड़के व 36 लड़कियां शामिल थी। पंजाब की झोली में सिर्फ नौ पदक आए। कई खिलाड़ी एंट्री न भेजे जाने को लेकर चैंपियनशिप में भाग नहीं ले पाए। इससे पहले जब भी खेलें होती रही हैं पंजाब की ओर से 120 के करीब खिलाड़ी चैंपियनशिप में हिस्सा लेते रहे हैं।

पंजाब एथलेटिक्स एसोसिएशन के सूत्रों के अनुसार एथलीटों ने अपने यूआइडी नंबर नहीं भेजे, इसी कारण चैंपियनशिप का हिस्सा नहीं बने। वहीं कोचों का कहना है कि उन्होंने खुद एथलीटों के यूआइडी नंबर एसोसिएशन को भेजे थे। पता नहीं क्यों एसोसिएशन को यूआइडी नंबर नहीं मिले। ऐसे में कई एथलीट चैंपियनशिप का हिस्सा नहीं बन सके, जिसके पंजाब का 13वां स्थान आया।

पुरुष वर्ग में हरियाणा ने पहला, महाराष्ट्र ने दूसरा, तमिलनाडू ने तीसरा स्थान पाया और पंजाब 13वें स्थान पर रहा। वहीं महिला वर्ग में केरल ने पहला, तमिलनाडू ने दूसरा, हरियाणा ने तीसरा व पंजाब ने 13वां स्थान पाया।

खिलाड़ियों का प्रदर्शन

नाम                          गेम            मेडल

अमनदीप सिंह            शॉटपुट       स्वर्ण

कुंवर अजय राज सिंह  जैवलिन थ्रो   रजत

कुलबीर सिंह              हाई जंप       रजत

हर्षदीप                     डिस्कस थ्रो   कांस्य

रोबिनदीप सिंह         हाई जंप        कांस्य

गुरकोमल               800 मीटर      रजत

खुशदीप कौर         400 मीटर बाधा दौड़ रजत

परमजोत            शॉटपुट             कांस्य

परमजोत     डिस्कस थ्रो              कांस्य

एएफआइ के खिलाड़ियों का प्रदर्शन

एथलेटिक फेडरेशन ऑफ इंडिया (एएफआइ) की ओर से जालंधर के पांच खिलाड़ियों ने चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था। 100 मीटर में लवप्रीत सिंह ने स्वर्ण पदक व नेशनल रिकॉर्ड, हरनूर सिंह ने डिस्कस थ्रो में रजत पदक, प्रीती ने 10 किमी वॉक में कांस्य पदक, जैसमीन कौर ने शॉटपुट में रजत पदक जीता। शीतल जैवलिन में पांचवें स्थान पर रही।

चैंपियनशिप में हिस्सा लेने को एथलीटों की सूची भेजने का काम पंजाब एथलेटिक्स एसोसिएशन का होता है। कई एथलीटों के नाम नहीं भेजे गए इसकी जानकारी नहीं है। अगर एथलीट चैंपियनशिप से वंचित रह गए है तो खेलों इंडिया स्कूल गेम्स में असर पड़ सकता है। फिलहाल इस मामले की जांच की जाएगी।

-करतार सिंह, खेल विभाग के डिप्टी डायरेक्टर।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!