मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जालंधर, जेएनएन। फोकल प्वाइंट एरिया की सब्जी मंडी में रेहड़ी-फड़ी वालों ने नगर निगम टीम द्वारा फीस लेने के विरोध में हंगामा कर दिया। सब्जी विक्रताओं ने टीम तय करवाने में भूमिका निभाने वाले वार्ड नंबर-3 की पार्षद रिशा सैनी के पति रवि सैनी के खिलाफ फोकल प्वाइंट चौक में धरना लगा दिया। इसके बाद सब्जी विक्रेता रवि सैनी के घर के बाहर पहुंच गए और सैनी के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इस बीच दानों पक्षों में धक्कामुक्की भी हुई।

वहीं सब्जी विक्रताओं के समर्थन में आए यूनियन नेता प्रताप नारायण का आरोप है कि निगम टीम रवि सैनी के कहने पर धक्केशाही कर रही है। रवि सैनी सब्जी मंडी से अपने लिए पैसा इकट्ठा करना चाहते हैं। दूसरी तरफ रवि सैनी ने कहा कि प्रताप नारायण ने पैसा इकट्ठा करने के लिए जो आरोप लगाए हैं, इसपर एक हफ्ते में माफी न मांगी तो मानहानि का केस करूंगा।

सैनी ने कहा कि फोकल प्वाइंट में सब्जी मंडी कई सालों से लग रही हैं, लेकिन आज तक किसी से फीस नहीं ली गई। अब निगम ने प्रति रेहड़ी 200 रुपया महीना फीस तय की है। कांग्रेस नेता रवि सैनी का कहना है कि मंडी में काम करने वाले मेंटिनेंस के लिए प्रति महीना निगम को 200 रुपए देने को तैयार हैं। इसका विरोध ऐसे लोग कर रहे हैं, जिनका इस काम से कोई लेना-देना नहीं हैं। ऐसे लोगों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

टीम दोबारा फीस लेने भेजी जाएगी

फोकल प्वाइंट की सब्जी मंडी में सब्जी बेचने वालों से फीस वसूली के लिए दो महीने से बात चल रही थी। पिछले हफ्ते रवि सैनी ने सब्जी बेचने वालों से मी¨टग करके तय किया था कि हर महीने प्रति रेहड़ी 200 रुपए लिए जाएंगे। शुक्रवार को जब नगर निगम की तहबाजारी टीम रवि सैनी के साथ फीस लेने गई, तो कुछ लोगों की पर्ची काटने के बाद विरोध शुरू हो गया और नारेबाजी शुरू हो गई, इससे टीम को वापस लौटना पड़ा। प्रदर्शन के दौरान धक्कामुक्की भी हुई। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर हंगामा करने के आरोप लगाए हैं। नगर निगम के तहबाजारी विभाग के सुपरिटेंडेंट मनदीप सिंह ने कहा कि सब्जी विक्रताओं से फीस ली जाएगी और टीम को दोबारा मंडी भेजा जाएगा।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!