जागरण संवाददाता, जालंधर

निजी बस आपरेटरों को आ रही समस्याओं को लेकर 16 अक्टूबर को समूह निजी बस आपरेटरों की बैठक फगवाड़ा-होशियारपुर रोड स्थित केजी रिजार्ट में बुलाई गई है। निजी बस मालिकों संदीप शर्मा, जरनैल सिंह गढ़दीवाला, हरदीप सिंह सिद्धू, केशव सिंह सोढी, दलविदर सिंह, गुरिदर सिंह, कुलदीप राय व हरनेक सिंह ने कहा कि लाकडाउन के दौरान डीजल रेट 54 रुपये थे जोकि अब 95 रुपये पार कर चुका है। इसके चलते चार सौ किलोमीटर के सफर दौरान 5400 रुपये का डीजल खपत करने वाली बस अब दस हजार रुपये का डीजल फूंक रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि ट्रांसपोर्ट अधिकारी राजनीतिक रसूख वाले बस मालिकों को खुश करने के लिए समय सारिणी में छोटे आपरेटरों को नजरअंदाज कर रहे हैं। उन्होंने सरकार से मांग की कि चुनावी वादे के तहत मार्च 2022 तक उनका टैक्स माफ किया जाए, समय सारिणी में निजी बस आपरेटरों को प्राथमिकता दी जाए, बस आपरेटरों को 20 रुपये प्रति लीटर सब्सिडी दी जाए।

Edited By: Jagran