जागरण संवाददाता, जालंधर

बारिश की वजह से शहर में बिजली फाल्ट से उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ा है। रविवार को कई इलाकों से बिजली फाल्ट आने से दो से तीन घंटे बिजली बंद रही। फाल्ट को दुरुस्त करने के लिए लाइनमैन व असिस्टेंट लाइनमैन डटे हुए हैं। जालंधर सर्किल की चारों डिवीजनों पठानकोट डिवीजन, मकसूदां, कैंट व माडल टाउन डिवीजन में 400 से अधिक फाल्ट संबंधित शिकायतें पहुंची हैं, जिसमें से 300 से अधिक शिकायतों का निपटारा कर दिया गया है।

बीते शनिवार को बारिश की वजह से शहर में 1200 शिकायतें आई थीं। पावरकाम के पास लाइनमैन व असिस्टेंट लाइनमैन की कमी होने की वजह से फाल्ट ठीक करने में देरी हुई। पावरकाम के एक अधिकारी ने बताया कि विधानसभा चुनाव को लेकर 80 प्रतिशत स्टाफ को ड्यूटी पर लगा रखा है। लाइनमैन को एक फाल्ट ठीक करने में आधे से एक घंटे का समय लगा। कई जगह बड़े फाल्ट भी आए थे, जिनको ठीक करने में एक लाइनमैन को तीन से चार घंटे का समय लगा। एक लाइनमैन ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि एक लाइनमैन को एक फाल्ट ठीक करने के बाद दूसरी जगह जाने में समय लगता है। फाल्ट ठीक करने के लिए दो असिस्टेंट लाइनमैन की जरूरत होती है। बारिश में फाल्ट को ठीक करने में देरी होती है। तेज बारिश में फाल्ट ठीक करने में रिस्क होता है, इसलिए बारिश रुकने का इंतजार किया जाता है। डिप्टी चीफ इंजीनियर हरजिदर सिंह बांसल ने कहा कि फाल्ट को ठीक करने के लिए लाइनमैन डटे हुए हैं। रोजाना उपभोक्ताओं की बिजली संबंधित शिकायतों का निपटारा कर दिया जाता है। इन इलाकों में आए फाल्ट

रविवार को बारिश की वजह से भगत सिंह कालोनी, संजय गांधी नगर, ग्रेटर कैलाश, माडल टाउन, माडल हाउस, गुरु तेग बहादुर नगर, प्रीत नगर, प्रकाश नगर, अर्बन एस्टेट फेज वन व दो, माता रानी चौक, अमन नगर, भार्गव नगर, गुरु गोबिद नगर, गोबिद गढ़, गुरु नानकपुरा, सेंट्रल टाउन में बिजली फाल्ट आया था। इन सभी फाल्ट को ठीक कर दिया गया है।

Edited By: Jagran